बड़े काम के हैं फलों के छिलके, कैंसर को दूर भगाता है इस फल का छिलका, आप भी जानिए

बड़े काम के हैं फलों के छिलके, कैंसर को दूर भगाता है इस फल का छिलका, आप भी जानिए

Astha Awasthi | Publish: Sep, 02 2018 04:30:21 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

बड़े काम के हैं फलों के छिलके, कैंसर को दूर भगाता है इस फल का छिलका, आप भी जानिए

भोपाल। फल हमारी सेहत को संवारते हैं और हमें कई तरह की परेशानियों से बचाते हैं। हम फल खाते हैं लेकिन फल के छिलकों को हम उतारकर फेंक देते हैं। हमारी नजर में फलों के ये छिलके बेकार और नुकसान पहुंचाने वाले होते हैं, जबकि सच्चाई इसके उलट है। शहर की डॉयटीशियन रश्मि श्रीवास्तव बताती है कि फलों के जिन छिलकों को हम बेकार समझकर फेंकते हैं, वे भी दरअसल हमारे लिए बेहद उपयोगी होते हैं। इन छिलकों में भी फलों की तरह ही अनेक गुण शामिल होते हैं। आइए जानते हैं उन छिलकों के बारे में, जो कई तरह की खूबियां लिए हुए हैं।

तरबूज

हमारी आदत है कि तरबूज खाते वक्त हम इसके अंदर का लाल हिस्सा ही खाते हैं और बाकी सब फेंक देते हैं। सच्चाई यह है कि तरबूज के लाल हिस्से के बाद के सफेद हिस्से में अमीनो एसिड, विटामिन सी, बीटा कैरोटिन, लाइकोपीन विटामिन ए, थियामीन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी6, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटाशियम और जिंक जैसे महत्त्वपूर्ण तत्व होते हैं। माना तरबूज का सफेद हिस्सा इतनी मिठास नहीं देता जितनी कि लाल हिस्सा देता है लेकिन गुणों के लिहाज से देखें तो यह सफेद हिस्सा भी कम महत्त्वपूर्ण नहीं है।

सेब

सेब एंटी ऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी का खजाना है। हैरत की बात यह है कि इसके गूदे से पांच गुणा ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट इसके छिलके में होते हैं। ये छिलके एंटी डिजीज और एंटी कैंसर के गुणों से भरपूर होते हैं।

सब्जियां

फल ही नहीं, सब्जियों के छिलके भी महत्त्वपूर्ण होते हैं। आलू के छिलके विटामिन सी, बी6, पोटेशियम, मैंगनीज और कॉपर से पूर्ण होते हैं। खीरे के छिलकों में फाइबर, बीटा कैरोटीन और मूली के छिलकों में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं।

संतरा-नींबू

एक अध्ययन के अनुसार खट्टे फलों-संतरा, नींबू, आदि के छिलकों में तीखी सुगंध वाला तत्व मोनोटरपीन्स त्वचा, फेफड़े और पेट के कैंसर से बचाने की क्षमता रखता है। संतरे के छिलके कोलेस्ट्रोल लेवल घटाने में कारगर हैं। इन छिलकों में पाया जाने वाला तत्व पोलीमेथोक्सीलेटेड फ्लेवोनेस कोलेस्ट्रॉल कम करता है। इसमें हरपरिडिन नामक एंटी ऑक्सीड़ेंट भी होता है, जो रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है। संतरे के छिलके में पेक्टिन तत्व होता है, जो ब्लड शुगर में हमें फायदा पहुंचाता है।

केले का छिलका

ताईवान की चुंग शान मेडिकल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अध्ययन में सामने आया कि केले का छिलका डिप्रेशन से जूझने में मददगार ही नहीं है, बल्कि आंखों के रेटीना की भी हिफाजत करता है। केले से ज्यादा उसके छिलके खाने से सेरोटोनिन नामक हार्मोन स्रावित होता है, जो खुशी महसूस कराने में सहायक है। यही नहीं, इसके छिलके में लूटीन नामक एंटी ऑक्सीडेंट होता है, जो रेटीना की सैल्स को मजबूत बनाता है।

अंगूर-बेरी

अंगूर, बेरी और अमरूद के छिलकों में भी हमारी सेहत संबंधी अनेक गुण होते हैं। यह हमें कई बीमारियों से बचाते हैं। अमरीका के वैज्ञानिकों ने अपने अध्ययन में निष्कर्ष निकाला कि अंगूर और बेरी के छिलकों में कोलेस्ट्रॉल घटाने का गुण होता है। इसी प्रकार अमरूद के छिलकों में भी एंटी ऑक्सीडेंट अच्छी मात्रा में होता हैं। इन छिलकों में पाए जाने वाले तत्व कैंसर, न्यूरो संबंधी बीमारियों, इनफ्लेमेशन, बढ़ती उम्र के प्रभावों से हमें बचाते हैं।

Ad Block is Banned