आज रात से बदल जाएगी इन राशियों की किस्मत, जानिये शुक्र के मिथुन राशि में प्रवेश का आप पर शुभ-अशुभ असर

आज रात से बदल जाएगी इन राशियों की किस्मत, जानिये शुक्र के मिथुन राशि में प्रवेश का आप पर शुभ-अशुभ असर

Deepesh Tiwari | Publish: Jun, 25 2019 07:36:22 PM (IST) | Updated: Jun, 28 2019 02:39:45 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

शुक्र का ये परिवर्तन ( Venus Transits ) हर राशि के जातक को प्रभावित करेगा।

भोपाल। ग्रहों की चालें आकाश में निरंतर होती रहती हैं। ज्योतिष के अनुसार इन्हीं के चलते मनुष्य का जीवन भी काफी ज्यादा प्रभावित होता है। ऐसे में एक बार फिर ज्योतिष ग्रहों में से एक प्रमुख ग्रह शुक्र राशि परिवर्तन ( Venus Transits ) करते हुए। शुक्रवार, 28 जून 2019 की रात को मिथुन राशि ( gemini ) में प्रवेश करेंगे।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार शुक्र का ये परिवर्तन हर राशि के जातक को प्रभावित ( venus transit effects on your zodiac signs )करेगा। उनके अनुसार वैदिक ज्योतिष ( vedic jyotish ) की मानें तो शुक्र ग्रह बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये जातक को भौतिक सुख प्रदान करता है। शुक्र ग्रह की उपासना विशेष रूप से शुक्रवार के दिन की जाती है।

Venus Transits to Gemini 02

वहीं ज्योतिष शास्त्र में शुक्र को सभी नवग्रहों में बेहद शुभ ग्रह की उपाधि दी गयी है, साथ ही इसे भाग्य का कारक ग्रह माना गया है। शुक्र ग्रह विशेष रूप से वृषभ और तुला राशि का स्वामी है। इसके साथ इस ग्रह को मीन राशि में उच्च और कन्या राशि में निम्न प्रभाव वाला माना जाता है। कुंडली में शुक्र के प्रभाव से जातक को सांसारिक सुख और ऐश्वर्य प्राप्त होता है।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शुक्र दैत्यों के गुरु कहे जाते हैं। शुक्र के शुभ प्रभाव से व्यक्ति सांसारिक जीवन में समस्त सुख-साधनों को प्राप्त करता है। वहीं इसके अशुभ प्रभाव से मनुष्य में संस्कार हीनता, यौन जनित रोग तथा परिवार में बिखराव की स्थिति निर्मित होती है।

शुक्र ग्रह की शांति के लिए इसकी उपासना शुक्ल पक्ष में आने वाले शुक्रवार से प्रारंभ करनी चाहिये। चूंकि शुक्र को विवाह का कारक भी कहा जाता है इसलिए अविवाहित जातकों को शुक्र की उपासना अवश्य करनी चाहिए।

Venus Transits to Gemini 03

आपकी राशि पर असर ( Venus Transits effects on You ) ...


1. मेष राशि / aries horoscope -

मिथुन राशि में गोचर के दौरान ये मेष राशि से तीसरे भाव में स्थापित होंगें। इस गोचर के फलस्वरूप आप जीवन में नए रिश्ते की शुरुआत कर सकते हैं।

वैसे लोग जो पहले से ही किसी रिश्ते में हैं उन्हें अपने पार्टनर से इस दौरान विशेष लाभ की प्राप्ति हो सकती है।

मेष राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार साहस-पराक्रम में वृद्धि होगी। धनलाभ होगा। अधीनस्थों का सहयोग प्राप्त होगा। भाग्योदय होगा। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। भाई-बहनों का सहयोग प्राप्त होगा।

उपाय: विशेष लाभ के लिए गाय को रोज़ चारा डालें।

 

 

2. वृषभ राशि / Tauras Horoscope -

शुक्र आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेंगे। शुक्र का ये गोचर आपके जीवन को पहले से ज्यादा समृद्ध बना सकता है। आर्थिक रूप से देखें तो इस गोचर काल के दौरान आप अच्छी ख़ासी बचत कर धन भी जमा करने में सफल रहेंगे।

वृषभ राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार धनलाभ होगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। संतान प्राप्ति का योग बनेगा। विद्यार्थी वर्ग को परीक्षाओं में सफलता प्राप्त होगी। विद्याध्ययन में रुचि बढ़ेगी। शत्रु पराभव होगा। स्त्री सुख प्राप्त होगा। नवीन वस्त्राभूषणों की प्राप्ति होगी।

उपाय: विशेष लाभ के लिए ऊंगली उच्च कोटि का हीरा पहनें।

horoscope

3. मिथुन राशि / gemini Horoscope -

शुक्र का गोचर आपकी राशि में होगा, लिहाजा शुक्र आपकी राशि से पहले भाव यानी लग्न भाव में स्थापित होंगें। शुक्र का ये गोचर आपके व्यक्तित्व में विशेष निखार लाएगा जिस वजह से आप दूसरों के बीच आकर्षण का केंद्र बनेंगे।

इस गोचर काल के दौरान आपके अंदर नई चीजों को सीखने की और ज्ञान प्राप्त करने की लालसा बढ़ेगी। इसके परिणाम स्वरूप आप नई बुलंदियों को छूने में कामयाब होंगें। मिथुन राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार धनलाभ होगा। शत्रु परास्त होंगे।

अविवाहितों का विवाह होगा। घर में संतान का जन्म होगा। व्यापार में लाभ होगा। विद्यार्थी वर्ग का विद्याध्ययन में मन लगेगा। स्त्री जाति से लाभ होगा।

उपाय: विशेष लाभ के लिए इस दौरान “ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः” मंत्र का उच्चारण करें।

 

4. कर्क राशि / cancer Horoscope -

गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से बारहवें भाव में स्थापित होगा। गोचर की इस अवधि के दौरान आप विशेष रूप से भौतिक जीवन का लाभ उठा पाने में सफल रहेंगे।

सुख सुविधाओं का आनंद लेने के लिए ये गोचर काल आपके लिए ख़ासा अहम रहेगा। हालाँकि इस अवधि के दौरान आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। यदि आप किसी व्यापार से जुड़े हैं तो गोचर की इस अवधि के दौरान आपको विदेश यात्रा का लाभ प्राप्त हो सकता है।

कर्क राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार मित्रों से लाभ होगा। आर्थिक उन्नति होगी। भोग-विलास के संसाधनों की प्राप्ति होगी। उत्तम शैया सुख प्राप्त होगा। स्त्री वर्ग का सहयोग प्राप्त होगा। अविवाहितों को विवाह के अवसर प्राप्त होंगे।

उपाय: विशेष लाभ प्राप्ति के लिए कन्याओं को हर शुक्रवार मिश्री खिलाएं।

leo rashi

5. सिंह राशि / leo o Horoscope -

आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में शुक्र का गोचर होने वाला है। इस गोचर के दौरान यदि आप किसी भी क्षेत्र में प्रयास करते हैं तो उसमें आपको सफलता ज़रूर हासिल होगी।

आपकी राशि में चन्द्रमा की ये स्थिति जीवन में सफलता का पर्याय बनेगा। इस दौरान आप सफलता की नई उड़ान भरेंगे और जीवन के हर क्षेत्र में अपने प्रयासों में सफल होंगें।

गोचर की ये अवधि आपके जीवन में प्यार और रोमांस लेकर आएगा।सिंह राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार धनलाभ होगा। कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। प्रेम संबंध सफल होंगे। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। दांपत्य सुख प्राप्त होगा।

उपाय: शुक्र के हानिकारक प्रभावों से बचने के लिए हर रोज़ मां दुर्गा की पूजा करें।


6. कन्या राशि / virgo Horoscope -

गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से दसवें भाव में विराजमान होंगें। आपकी राशि में शुक्र की इस स्थिति से आपको कार्यस्थल पर कुछ बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

गोचर की इस अवधि के दौरान आप नौकरी बदल सकते हैं, यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं तो इस दौरान आपका ट्रांसफर हो सकता है। कन्या राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार शारीरिक कष्ट होगा। मानसिक चिंता में वृद्धि होगी।

व्यर्थ धनहानि होगी। कार्यक्षेत्र में विघ्न आएंगे। शत्रु प्रभावी होंगे। स्त्री जाति से कष्ट होगा। राज्य की ओर से परेशानियां आएंगी। संबंधियों से विवाद होगा।

उपाय: विशेष लाभ के लिए हर रोज़ माथे पर सफेद चंदन का तिलक लगाएं।

libra Horoscope

7. तुला राशि / libra a Horoscope -
शुक्र आपकी राशि से नवम भाव में स्थित होंगें। आपकी राशि में शुक्र की इस स्थिति से आपको मिलाजुला परिणाम मिलने वाला है।

जहां एक तरफ आपको अचानक ही किसी विशेष लाभ की प्राप्ति होगी वहीं दूसरी तरफ पिता की सेहत बिगड़ने की वजह से मानसिक तनाव का शिकार भी होना पड़ सकता है।तुला राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार प्रत्येक कार्य में लाभ होगा।

नवीन वस्त्राभूषणों की प्राप्ति होगी। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। बंधु-बांधवों से लाभ व सहयोग प्राप्त होगा। भाग्य का साथ प्राप्त होगा।

उपाय: विशेष लाभ के लिए शुक्रवार को नहाने के बाद घर में शुक्र यंत्र स्थापित करें।


8. वृश्चिक राशि / scorpio Horoscope -

शुक्र गोचर के दौरान आपकी राशि से आठवें भाव में होगी। शुक्र का ये गोचर आपके निजी जीवन पर हानिकारक प्रभाव डाल सकता है। इस दौरान आपकी शादीशुदा जिंदगी में मुसीबतें पैदा हो सकती है।

जीवनसाथी के साथ किसी बात को लेकर बहस की स्थिति बन सकती है, आपके लिए बेहतर होगा कि इस समय उनके साथ विवाद की स्थिति से बचकर ही रहें। इस अवधि में वैवाहिक जीवन में उत्पन्न होने वाली समस्याएं आपके निजी जीवन के लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकती हैं।

वृश्चिक राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार धनलाभ होगा। संकटों से मुक्ति मिलेगी। भोग-विलास की सामग्री प्राप्त होगी। संबंधियों से लाभ होगा।

उपाय: गोचर के विशेष लाभ के लिए शुक्रवार को चावल दान करें।

sagittarius

9. धनु राशि / sagittarius Horoscope -

गोचर के दौरान ये आपकी राशि से सातवें भाव में स्थित होगा। आपकी राशि में शुक्र की इस स्थिति से आपको वैवाहिक जीवन में ख़ुशी की अनुभूति होगी। लिहाजा इस दौरान आपको अपने जीवनसाथी का भरपूर साथ मिलेगा और आप उनके साथ एक ख़ुशनुमा पल व्यतीत कर पाएंगे।

हालांकि इस दौरान आप दोनों के बीच छोटी छोटी बातों को लेकर नोंक झोंक भी हो सकती है लेकिन इसके वाबजूद भी आप दोनों के बीच परस्पर प्यार बरक़रार रहेगा। इसके अलावा धनु राशि वालों की शुक्र के गोचर अनुसार प्रतिष्ठा धूमिल होगी। अथक परिश्रम का अपेक्षित फल प्राप्त नहीं होगा।

जीवनसाथी से विवाद होगा। स्त्री जाति के कारण अपमानित होने की आशंका है। धनहानि हो सकती है।

उपाय: विशेष लाभ के लिए शुक्रवार को अरंद मूल पहनें।

 

10. मकर राशि / capricorn Horoscope -
शुक्र गोचर में आपकी राशि से छठे भाव में स्थापित होंगें। गोचर की इस अवधि के दौरान कार्यक्षेत्र में आपको विशेष लाभ प्राप्त होगा।

इस दौरान आप अपने काम में और भी ज्यादा निपुण होंगें, हालाँकि सफलता प्राप्त करने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। वैसे लोग जो जुआ और सट्टेबाजी में लिप्त हैं उन्हें गोचर की इस अवधि के दौरान इन कामों से लाभ मिल सकता है।

मकर राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार शत्रुता में वृद्धि होगी। शत्रु प्रभावी होंगे। साझेदारी से हानि होगी। जीवनसाथी से मतभेद होंगे। दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना है।

उपाय: विशेष लाभ के लिए इस मंत्र का उच्चारण करें- “ऊं शुः शुक्राय नमः।”

Aquarius rashi

11. कुंभ राशि / Aquarius s Horoscope -

गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से पांचवें भाव में स्थापित होंगें। शुक्र का ये गोचर कुंभ राशि के जातकों के लिए विशेष फलदायी सिद्ध होगा। गोचर की इस अवधि के दौरान आप काफी प्रगतिशील रहेंगे और कार्यक्षेत्र में आपको विशेष रूप से लाभ प्राप्त होगा।

इस दौरान आप कार्यक्षेत्र में बदलाव कर सकते हैं, लेकिन नौकरी बदलने से पहले ये जरूर सुनिश्चित कर लें कि आप जिस नई जगह ज्वाइन करने वाले हैं वो आपके पिछले कार्यक्षेत्र से अच्छा है ये बुरा।कुंभ राशि वालों को शुक्र के गोचर अनुसार पुत्र से लाभ होगा।

धन की प्राप्ति होगी। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। शत्रु पराजित होंगे। पुत्र जन्म के योग बनेंगे। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त होगी। प्रेम संबंध सफल होंगे।

उपाय: विशेष लाभ के लिए ऊंगली में उत्तम कोटि का ओपल पहनें।


12. मीन राशि / pisces Horoscope -
शुक्र का गोचर आपकी राशि से चौथे भाव में होगा। इस गोचर के फलस्वरूप आपको निजी स्तर पर कई लाभ प्राप्त हो सकते हैं। इस दौरान अपनी माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें ।

इस गोचर काल के दौरान कार्यक्षेत्र में आपको कुछ ख़ुशी का अनुभव हो सकता है। इस दौरान कार्यस्थल पर आपके प्रदर्शन में वृद्धि होगी, जिससे आपके मान सम्मान में भी वृद्धि होगी और बॉस आपकी तारीफ करते नहीं थकेंगे।

कार्यक्षेत्र में मिलने वाली इस अप्रत्याशित सफलता से आपको असीम ख़ुशी का अनुभव होगा मीन राशि वालों की शुक्र के गोचर अनुसार मनोअभिलाषाएं पूर्ण होंगी। आर्थिक लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। भोग-विलास की सामग्री प्राप्त होगी।

संपत्ति प्राप्ति के योग बनेंगे। वाहन सुख प्राप्त होगा। संबंधियों से स्नेह प्राप्त होगा। माता से लाभ होगा। मन प्रसन्न व आनंदित रहेगा।

उपाय: विशेष लाभ के लिए गाय को रोटी खिलाएं।

 pisces Horoscope

शुक्र के अशुभ प्रभाव कम करने के ये भी हैं उपाय Other tips to get blessings of shukra dev -

1. शुक्रवार को शुक्र का दान करें- (दान सामग्री : श्वेत वस्त्र, सौन्दर्य सामग्री, इत्र, चांदी, शकर, दूध-दही, चावल, घी, स्फटिक, सफेद पुष्प)।

2. शुक्रवार के दिन ब्राह्मणों को श्वेत मिष्ठान्न या खीर खिलाएं।

3. शुक्रवार को मंदिर में तुलसी का पौधा लगाएं।

4. हर शुक्रवार चींटियों को आटा व पिसी शक्कर मिश्रित कर डालें।

5. सफेद गाय को हर रोज चारा व रोटी दें।

 

शुक्र के प्रभाव: Effects of shukradev

जानकारों के अनुसार कुंडली में मजबूत शुक्र व्यक्ति के वैवाहिक जीवन को सुखी बनाता है। यह पति-पत्नी के बीच प्रेम की भावना को बढ़ाता है। वहीं प्रेम करने वाले जातकों के जीवन में रोमांस में वृद्धि करता है।

shukra grah

जिस व्यक्ति की कुंडली में शुक्र मजबूत स्थिति में होता है वह व्यक्ति जीवन में भौतिक सुखों का आनंद लेता है। बली शुक्र के कारण व्यक्ति साहित्य एवं कला में रुचि लेता है।

वहीं इसके विपरीत पीड़ित शुक्र के कारण व्यक्ति के वैवाहिक जीवन में परेशानियाँ आती हैं। पती-पत्नि के बीच मतभेद होते हैं। व्यक्ति के जीवन में दरिद्रता आती है और वह भौतिक सुखों के अभाव में जीता है। यदि जन्म कुंडली में शुक्र कमज़ोर होता है तो जातक को कई प्रकार की शारीरिक, मानसिक, आर्थिक एवं सामाजिक कष्टों का सामना करना पड़ता है।

 

शुक्र का वैदिक मंत्र
ॐ अन्नात्परिस्त्रुतो रसं ब्रह्मणा व्यपिबत् क्षत्रं पय: सोमं प्रजापति:।
ऋतेन सत्यमिन्द्रियं विपानं शुक्रमन्धस इन्द्रस्येन्द्रियमिदं पयोऽमृतं मधु।।

शुक्र का तांत्रिक मंत्र
ॐ शुं शुक्राय नमः ।।

शुक्र का बीज मंत्र
ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः।।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned