कोई मिला खटिया पर तो किसी को काम से बुलाकर किया वेरिफिकेशन

दिल्ली की टीम ने शक के आधार पर चुने एक जैसे १६ नाम

By: मनोज अवस्थी

Published: 06 Jun 2018, 09:11 AM IST

भोपाल. फर्जी वोटर के आरोप की जांच करने दिल्ली से आई भारत निर्वाचन आयोग की टीम मंगलवार को सुबह नौ बजे ही अशोका गार्डन पहुंच गई। टीम ने वोटर लिस्ट की जांच करते हुए शक के आधार १६ एेसे नामों को चिह्नित किया, जो वोटर लिस्ट में एक से अधिक बार थे, सिर्फ उनके पते अलग-अलग थे।

सुबह नौ बजे से लेकर शाम चार बजे तक टीम ने नरेला क्षेत्र की ही २३ से ज्यादा लोकेशनों पर इन मतदाताओं को जांचा, तो कोई खटिया पर मिला तो किसी को काम से छुट्टी कराकर स्पॉट पर वेरिफिकेशन के लिए बुलवाया। टीम अपनी रिपोर्ट तैयार कर दिल्ली में अधिकारियों को सबमिट करेगी।

कांग्रेस ने नरेला सीट में १०५८८ फर्जी वोटर होने का आरोप लगाया था। इसी की जांच के लिए टीम दो दिन से भोपाल में डेरा डाले हुए है। सोमवार को गोविंदपुरा एसडीएम कार्यालय में वोटर लिस्ट की जांच करने के बाद आईटी के डायरेक्टर वीएन शुक्ला ने १६ एेसे नामों को चुना, जो एक से थे, कुछ की वल्दीयत बदली थी, पते अलग-अलग थे। मंगलवार को इन्हें क्रॉस चेक करने टीम अशोका गार्डन पहुंची।

यहां हमीद पुत्र मजीद की जांच की, इसी नाम के दूसरे व्यक्ति हमीद पुत्र मजीद सुभाष नगर में रहते हैं। अशोका गार्डन में अशोक पुत्र सीताराम को चेक किया, दूसरा अशोक करोंद में रहता था। अजय पुत्र मोहन लाल निवासी करोंद की जांच की तो वो खटिया में सो रहा था, उसकी तबीयत खराब थी।

दूसरे को काम से वापस बुलाकर जांच की। इसी प्रकार टीम ने अनिल पुत्र प्रेमनारायण की जांच की तो दूसरा अनिल नहाने की तैयारी में था, अनीता पत्नी सीताराम व अन्य लोगों की जांच अलग-अलग स्पॉट पर जाकर की तो सभी मतदाता उन्हें मिल गए। टीम के साथ एसडीएम गोविंदपुरा मुकुल गुप्ता व तहसीलदार मनीष शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

इन क्षेत्रों में किया दौरा
अशोका गार्डन, अन्ना नगर, रूप बस्ती, करोंद, सिक्योरिटी लाइन, सुंदर नगर, पलासी, रासलाखेड़ी, छोलामंदिर, करोंद, खानपुर, कस्तूरबा नगर, सुभाष नगर सहित आधा दर्जन अन्य जगहों पर पड़ताल की। इस दौरान क्षेत्र के बीएलओ से भी जानकारी जुटाई।

इआरओ नेट की खामियां ज्यादा
दरअसल वोटर लिस्ट में एक-एक फोटो जो पांच जगह लगा मिला वो इआरओ नेट की गड़बड़ी है। इस संबंध में कलेक्टर सुदाम खाड़े ने भी टीम को अवगत कराया है। भोपाल में कुल मतदाता १९ लाख के आस-पास हैं, जिसमें से २ लाख १००२० मतदाता डबल या इससे अधिक नाम वाले हैं। सूत्रों की मानें तो वोटर लिस्ट में यही एक से नाम भ्रम की स्थिति पैदा करते हैं।

Show More
मनोज अवस्थी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned