विधानसभा चुनाव 2018: कांग्रेस ने खेला बड़ा मास्टर स्ट्रोक,सकते में भाजपा, दिल्ली में जल्द हो सकती है बैठक

विधानसभा चुनाव 2018: कांग्रेस ने खेला बड़ा मास्टर स्ट्रोक,सकते में भाजपा, दिल्ली में जल्द हो सकती है बैठक

Faiz Mubarak | Publish: Sep, 12 2018 01:27:48 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

विधानसभा चुनाव 2018: कांग्रेस ने खेला बड़ा मास्टर स्ट्रोक,सकते में भाजपा, दिल्ली में जल्द हो सकती है बैठक

भोपालः साल खत्म होते होते मध्य प्रदेश में विधानसाभा चुनाव होने हैं। इसको लेकर सभी राजनैतिक दल अपनी पूरी ताकत के साथ चुनावी तैयारियों में जुट गई हैं। मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार जहां अपनी साख की लड़ाई में हैं। वहीं एमपी का मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस अपने पंद्रह सालों के वनवास को खत्म करने की मास्टर स्ट्रोक लगा रही है। रणनीति के तहत कांग्रेस अब प्रदेश की बाहुल आबादी को ध्यान में रखते हुए धर्म का सहारा लेकर राजनीतिक समीकरण सुधारने में जुट गई है। कांग्रेस अपनी नैय्या पार लगाने के लिए सॉफ्ट हिंदुत्व एजेंडे पर काम कर रही है। इसी एजेंडे के तहत कांग्रेस के नेता इन दिनों भगवान राम, गाय और मंदिर जैसे मुद्दों पर घोषणाए करते हुए देखे जा रहे है।

दिग्विजय ने किया बड़ा ऐलान

इसकी हालिया बानगी देखने को मिली मंगलवार को जहां पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक बड़ा ऐलान करते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, अगर कांग्रेस मध्य प्रदेश की सत्ता में आती है तो 'रामपथ' और 'नर्मदा परिक्रमा पथ' का निर्माण कराएगी। हालांकि, इसी एडेंजे को लेकर भाजपा भी चुनावी मैदान में उतरी थी, लेकिन आज शायद उसके कामों की फेहरिस्त में यह काम शामिल नहीं है। इसी बात को लोगों के सामने लाते हुए दिग्विजय ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि, सत्ता में आने से पहले भाजपा ने रामपथ बनाने का वादा किया था, लेकिन वह इसमें विफल रही। लेकिन, प्रदेश की जनता कांग्रेस पर विश्वास करती है, तो सत्ता में आने के बाद हम मध्य प्रदेश की आखिरी सीमा तक इसका निर्माण करेंगे। दिग्विजय ने यह भी कहा कि, नर्मदा परिक्रमा के वक्त उन्होंने महसूस किया था कि, नर्मदा की परिक्रमा के लिए पथ बनाया जाना चाहिए, ताकि परिक्रमा करने वालों को अब तक हो रही परेशानियों का आगे सामना ना करना पड़े।

कांग्रेस के धार्मिक कार्य

हालांकि, अभी तक ऐसा माना जाता है कि भाजपा धार्मिक चीजों को महत्व देने वाली पार्टी है। इसी तर्ज पर कांग्रेस भी अब हिंदुत्व की रणनीति पर काम कर रही है। हाल ही में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा था कि कांग्रेस की सरकार बनने पर 23 हजार ग्राम पंचायतों में एक-एक गौशाला खोलेंगे। उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा था कि भाजपा गाय पर सिर्फ बातें करती हैं, लेकिन प्रदेश में गौशालाओं की हालत यह है कि, यहां रोज़ाना सैकड़ों गाय मर रही हैं। इसके अलावा कांग्रेस भगवान श्रीराम के 14 सालों के वनवास की याद दिलाते हुए एक धार्मिक यात्रा का प्लॉन बनाया है, जो उन रास्तों से गुजरेगी जहां-जहां से श्रीराम वनवास के दौरान गुजरे थे। मध्य प्रदेश में यह रास्ता करीब 36 विधानसभा क्षेत्रों से होता हुआ गुजरा है, तो कांग्रेस इसी रास्ते से गुज़र कर प्रदेश की जनता को भाजपा द्वारा किए पंद्रह सालों कामों का कच्चा चिट्ठा भी खोलेगी को यह यात्रा कवर करेगी। यात्रा 21 सितंबर से शुरु होकर 9 अक्टूबर तक चलेगी। इससे पहले मीडिया द्वारा कमलनाथ से पूछा गया था कि, क्या अब कांग्रेस भी धर्म की राजनीति कर रही है, तो उन्होंने इसपर जवाब देते हुए कहा था कि, 'क्या इसपर सिर्फ भाजपा का ही अधिकार है।'

जल्द हो सकती है भाजपा में बैठक

मध्य प्रदेश को हिन्दू बाहुल प्रदेश है। ऐसे में कांग्रेस द्वारा हिन्दुओं के लिए किए जा रहे वादों के बाद भाजपा में सुगबुहाट शुरु हो गई है। कांग्रेस वैसे भी भाजपा को कई बातों में घेर रही है। ऐसे में अगर कांग्रेस को सॉफ्ट हिन्दुत्व का लाभ मिलता है तो, भाजपा के लिए चुनौती बढ़ जाएगी। भाजपा के सूत्रों से मिली जानकारी से यह बात भी सामने आई है कि, भाजपा अब कांग्रेस की ओर से चलाए जा रहे बांढ़ को तोड़ने की रणनीति बना रही है। यह भी संभव है कि, जल्द ही इसपर चर्चा के लिए दिल्ली में सीक्रेट बैठक हो।

Ad Block is Banned