scriptVIP culture is taking big pond, not a single capture has been removed | बड़ा तालाब को लील रहा वीआईपी कल्चर, दो साल से एक भी कब्जा नहीं हटा, सैटेलाइट सर्वे तक ही सिमटे | Patrika News

बड़ा तालाब को लील रहा वीआईपी कल्चर, दो साल से एक भी कब्जा नहीं हटा, सैटेलाइट सर्वे तक ही सिमटे

- ३५४ वर्ग किमी में फैले तलाब के सीने पर आमोद प्रमोद के नाम पर हुए अवैध कब्जे, कुछ टूटे, बाकी पर वीआईपी कल्चर हावी

- वर्ष २०१९ में पहली बार राजस्व नक्शे में उतारी गई बड़ा तालाब की सीमा, सैटेलाइट सर्वे कर चिन्हित की थीं गायब मुनारें

भोपाल

Published: August 14, 2021 11:29:26 pm

भोपाल. राजधानी को खूबसूरती का तमगा दिलाने वाले बड़ा तालाब को शहर का वीआईपी कल्चर ही लील रहा है। खानूगांव, बोरवन, बहेटा, संजय नगर, भैंसाखेड़ी, लाउखेड़ी में ५० मीटर दायरे तक में अतिक्रमण चिन्हित हैं। इनमें कहीं न कहीं वीआईपी लोगों के फॉर्म हाउस या उनसे जुड़े लोगों के कब्जे हैं। यही वजह है कि नगर निगम और प्रशासन मिलकर इन कब्जों को हटा नहीं पा रहा। वर्ष २०१९ में ही बड़े तालाब को लेकर प्रशासन ने संयुक्त सर्वे कराया था। पहली बार तालाब की सीमा को राजस्व नक्शे में तय किया गया। इसमें एफटीएल के अंदर २२७ अवैध निर्माण और इसके बाहर कैचमेंट में ही करीेब ९४ अवैध निर्माण चिन्हित किए गए थे। करीब ३२१ अवैध निर्माणों को प्रशासन की टीम ने चिन्हित किया था। इसमें से १९ पर ही कार्रवाई हो सकी थी। इसके बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार में ही एक मंत्री के विरोध में आने पर कार्रवाई को रोक दिया। इसके बाद से अभी तक एक अतिक्रमण नहीं हटा। जो जिस स्थिति में काबिज है, उससे कहीं और ज्यादा लोगों ने कब्जे करने की कोशिश की।

बड़ा तालाब को लील रहा वीआईपी कल्चर, दो साल से एक भी कब्जा नहीं हटा, सैटेलाइट सर्वे तक ही सिमटे
तलाब के सीने पर आमोद प्रमोद के नाम पर हुए अवैध कब्जे, कुछ टूटे, बाकी पर वीआईपी कल्चर हावी

पिछले वर्ष ही खानूगांव की तरफ बड़ा तालाब में कॉलोनी काटने का बोर्ड लगाया था। जो बरसात में डूबा तब कहीं जाकर तालाब में अवैध घुसपैठ की पोल खुली। इस पर भी जिम्मेदारों ने कोई कार्रवाई नहीं की। जिला प्रशासन की तरफ से किया गया सैटेलाइट सर्वे करीब एक माह के आस-पास चला था जिसमें सैटेलाइट की मदद से पुरानी मुनारों की लोकेशन तलाशी गईं थीं। ९४६ मुनारें तालाब के किनारे लगाईं गईं थीं, जिसमें से ३०० से ज्यादा गायब मिली थीं। मुनार संख्या एक से लेकर १७ तक चिरायु अस्पताल के अंदर से गायब थीं। भैंसाखेड़ी के पास मुनार नंबर १८ से गिनती शुरू की गई। सैटेलाइट इमेज की मदद से ये सर्वे पूरा किया गया। रिपोर्ट बनी, कागजों में दफन हो गई।

इतने कब्जे इन क्षेत्रों में मिले थे
खानूगांव में--४६ कब्जे

हलालपुर से बोरवन (बूड़ाखेड़ा )--१२१
बहेटा में ओल्ड डेरी फार्म--७२

राहुल नगर में--४१
संजय नगर में गोदाम और झुग्गी--२०

व्हीलखेड़ा, बम्हौरी, सेवनिया गौड, गौरा में-२१

वीआईपी के कब्जे, आम आदमी के नाम पर दर्ज?
खानूगांव में पचास मीटर दायरे में फार्म हाउस, बाउंड्रीवाल बनाई गईं हैं, यहां सलीम अख्तर, अब्दुल हफीज खान, नरगिस, , वैद्यनाथ, विकास त्रिपाठी, माजिद अब्बासी, मुमताज अनवर, पानी फैक्टरी, साबिर अली सहित कई अन्य लोगों के कब्जे मिले हैं। हलालपुरा में पूजा का पटाखा गोदाम, शफीक खान का फिजा फार्म हाउस, एक क्लब और एक बाउंड्रीवॉल है।

इन लोगों को कहीं न कहीं वीआईपी या रसूखदार लोगों का संरक्षण है या उनके ही कब्जे हैं जो इन लोगों के नाम पर दर्ज हैं।

वर्जन
बड़ा तालाब में अवैध कब्जों के संबंध में अधिकारियों से जानकारी की जाएगी। पूर्व में कितने तय किए गए और कितनों पर कार्रवाई हुई। वर्तमान स्थिति पता कर आगामी कदम उठाए जाएंगे।

कवींद्र कियावत, संभागायुक्त\\क्च

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.