scriptVoting in 133 urban bodies of the state today | प्रदेश के 133 नगरीय निकाय में मतदान आज | Patrika News

प्रदेश के 133 नगरीय निकाय में मतदान आज

lolo- एक करोड़ चार लाख से अधिक मतदाता करेंगे वोट
- भोपाल, इंदौर सहित 11 नगरपालिक निगम, 36 नगरपालिका और 86 नगर परिषद में होगा मतदान

भोपाल

Updated: July 05, 2022 08:49:39 pm

भोपाल। भोपाल, इंदौर सहित प्रदेश के 133 निकायों में मतदान बुधवार को सुबह सात बेज से होगा। मतदान के लिए 13 हजार 148 मतदान केन्द्रों पर एक करोड़ 4 लाख 41 हजार 897 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। मतदान दल मंगलवार को चुनाव सामग्री लेकर मतदान केन्द्रों पर पहुंच गए हैं। दूसरे चरण का मतदान 13 जुलाई को होगा।
निकाय चुनाव ईवीएम के जरिए किया जाएगा। मतदाताओं को बारिश में भीगने से बचाने के लिए मतदान केन्द्रों के बाहर टेंट लगाए गए हैं। मंगलवार की शाम तक मतदाताओं को वोटर पर्टी भी वितरित कर दी गई है। मतदाता को आयोग द्वारा निहित 20 पहचान-पत्रों में से कोई एक पहचान-पत्र मतदान के लिए साथ में लाना अनिवार्य है।

ऐसे करें ईव्हीएम मतपत्रों की पहचान
ईव्हीएम में महापौर के लिए सफेद
नगरपालिक निगम पार्षद के लिए गुलाबी,
नगरपालिका परिषद पार्षद के लिए पीला
नगर परिषद पार्षद के लिए नीले रंग
------------------
चार निकायों में एक से अधिक वैलेट यूनिक का उपयोग
इंदौर सहित प्रदेश के चार जिलों के चार नगरीय निकायों में ईव्हीएम में एक से अधिक बैलेट यूनिट का लगाए जाएंगे। इंदौर नगर पालिका में महापौर 19 , शहडोल जिले के बकोह में19, सतना जिले के मैहर में17, अनूपपुर जिले के राजनगर 17, राजगनगर, छतरपुर में लवकुशनगर 15 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इन निकायों में 15 अथवा इससे अधिक प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। 15 प्रत्याशियों के लिए एक बैलेट यूनिट होती है, लेकिन इसमें एक नोटा की भी बटन होगी है। इससे जिन निकायों में 15 से अधिक प्रत्याशी होते हैं वहां दो बैलेट यूनिट लगाए जाते हैं।

प्रथम चरण में 44 जिलों में 11 नगर निगम, 36 नगरपालिका परिषद और 86 नगर परिषदों में मतदान होगा। इसके लिए कुल 13 हजार 148 मतदान केन्?द्र बनाये गए हैं। इनमें से 3296 मतदान केन्द्र संवेदनशील हैं। मतदान दलों में लगभग 79 हजार कर्मचारियों- अधिकारियों की ड्यिुटी लगायी गयी है। लगभग 27 हजार पुलिस बल डिप्लॉय किया गया है।

election.jpg
101 महापौर प्रत्याशी चुनाव मैदान में
प्रथम चरण में 11 नगरपालिक निगमों में कुल 101 महापौर पद के प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। कुल 133 निकायों में 2850 पार्षद के पद हैं। इनमें से 42 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है। शेष 2808 पदों पर निर्वाचन होना है। इसके लिए 11 हजार 250 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे है। इनमें से 3296 मतदान केन्द्र संवेदनशील हैं। मतदान दलों में लगभग 79 हजार कर्मचारियों- अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। लगभग 27 हजार पुलिस बल तैनात किया गया है।
---
- कुल मतदाता --10441897
- 53 लाख 62 हजार 457 पुरूष
- 50 लाख 78 हजार 635 महिला
- 805 अन्य
--------------
11 नगर निगमों में मतदाता
नगर निगम --- मतदाता
ग्वालियर --- 1068267
सागर ---222584
सतना --214188
सिंगरौली -- 205886
जबलपुर --976061
छिंदवाड़ा -- 190742
भोपाल --176735
खंडवा --175644
बुरहानपुर -- 177666
इंदौर --1835955
उज्जैन-- 461169
----------
आज रहेगा अवकाश
राज्य शासन ने 6 जुलाई को जिन नगरीय निकायों में चुनाव है, वहां पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है।
-----
इस तरह से सर्वाधिक मतदाता इंदौर में और सबसे कम खंडवा में हैं।

प्रथम चरण में बड़वानी, झाबुआ, खरगोन, सीधी और शहडोल जिलों के किसी भी नगरीय निकाय में मतदान नहीं है। मंडला, अलीराजपुर और डिंडोरी जिले के नगरीय निकायों का कार्यकाल अभी पूरा नहीं हुआ है। अत: इन जिलों के नगरीय निकायों के लिए निर्वाचन की घोषणा नहीं की गई है।
मतदान केन्द्रों पर मोबाइल प्रतिबंधित
भोपाल। मतदान केन्द्रों पर मतदाता मोबाइल लेकर नहीं जा सकेंगे। मतदान की गोपनीयता को बनाए रखने के उद्देश्य से मतदान केन्द्र के अंदर मतदाताओं द्वारा मोबाइल का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित किया गया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके पालन कराने के संबंध में सभी कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को को निर्देश दिए हैं।
प्रत्याशी मतदान सहायता बूथ में लगा सकते हैं टेंट
भोपाल। प्रत्याशी को मतदान केन्द्र से 100 मीटर से अधिक दूरी पर मतदाता सहायता बूथ बनाने की अनुमति रहेगी। प्रत्याशी द्वारा इस आकार का टेंट, कैनोपी और वर्षा से बचाव के लिए अन्य स्थानीय प्रबंध किये जा सकते हैं, जिसमें एक टेबल, दो कुर्सी एवं एक बैनर 2 फुट गुणे 3 फुट का लगाया जा सके। एक ही स्थान में एक से अधिक मतदान केन्द्र की स्थापना होने पर भी एक ही मतदाता सहायता बूथ बनाए जाने की अनुमति प्रत्याशी को होगी। इन नियमों का पालन न किए जाने पर ऐसे बूथ को हटाने का अधिकार सेक्टर अधिकारी, सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारियों को होगा। साथ ही स्थानीय निकायों की अनुमति आवश्यक होगी एवं इन बूथों की जानकारी पुलिस को दिया जाना अनिवार्य होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.