गहराता जलसंकट, बढ़ता जनविरोध, सुस्त निगम

नगर निगम जलापूर्ति नहीं कर पा रहा है, जिससे परेशान रहवासियों ने शुरु किया सड़कों पर उतरना

भोपाल। गर्मी के दस्तक के साथ बढ़ता जलसंकट लोगों का पारा भी गर्म करने लगा है। सोमवार को हसनातनगर, प्रताप नगर के रहवासी पानी की मांग को लेकर सड़क पर उतर आए। नगर निगम के जलकार्य विभाग पर जाकर धरना प्रदर्शन और नारेबाजी भी की।

इस दौरान रहवासियों के साथ क्षेत्रीय पार्षद शबिस्ता जकी भी थी। कुछ दिन पहले बाणगंगा और उससे लगी कॉलोनियों के निवासियों ने भी जलकटौती को लेकर निगम प्रशासन के विरोध में प्रदर्शन किया था। इस तरह की स्थिति रोजाना बन रही है। नगर निगम जलापूर्ति नहीं कर पा रहा है, जिससे परेशान रहवासियों ने सड़क पर उतरना शुरू कर दिया है।

जकी के अनुसार बीते कुछ दिनों से बस्ती में जल सप्लाई बंद की थी और इसे दोबारा चालू नहीं किया गया। नर्मदा से नया कनेक्शन नहीं दिया और कोलार लाइन से भी कनेक्शन काट दिया है। ऐसे में रहवासियों की दिक्कत बढ़ गई।

नर्मदा से जलापूर्ति शुरू, लेकिन बिगाड़ दी टाइमिंग
राजधानी में बीते एक माह के दौरान 12 क्षेत्रों में कोलार से जलापूर्ति बंद कर नर्मदा से जलापूर्ति शुरू की गई है। नई लाइन से नर्मदा का पानी तो मिलना शुरू हुआ, लेकिन निगम अफसरों ने इसकी टाइमिंग बदल दी। सबसे अधिक दिक्कत तुलसी नगर के निवासियों को हो रही है।

यहां पर पहले सुबह जलापूर्ति होती थी, लेकिन नर्मदा शुरू कर समय शाम का कर दिया। अब लोग जब ऑफिस में होते हैं, तब पानी आती है। हालांकि इसे दुरूस्त करने की कवायद चल रही है। इसी तरह ईदगाह हिल्स, बैरागढ़ में कई कॉलोनियों में सुबह जलापूर्ति कर दी, यहां के लोगों ने अपना समय शाम की जलापूर्ति के अनुसार तय कर रखा था।

कोलार में काम अब भी धीमा
कोलार में केरवा का पानी लोगों के घर तक पहुंचाकर गर्मी से राहत देने का काम होली के बाद फिर से अटक गया। होली के पहले आठ दिन युद्धस्तर पर चला काम फिलहाल थम गया है। सर्वधर्म और दशहरा मैदान की टंकियों से जलापूर्ति शुरू किए भी करीब दो माह का समय बीत गया, लेकिन नियमित जलापूर्ति शुरू नहीं की जा सकी है।

फायर स्टेशन और ललीता नगर टंकी से जलापूर्ति शुरू करने के लिए पाइप लाइन बिछाने का काम अब भी जारी है, बावजूद इसके निगम अप्रैल में हरघर तक केरवा का पानी भेजने का दावा कर रहा है।

कोलार समानांतर का काम 30 फीसदी भी नहीं
राजधानीवासियों को जलापूर्ति करने कोलार समानांतर लाइन का काम अब तक महज 30 फीसदी ही हो पाया है। 1500 एमएम के पाइप बिछाने के लिए बीते दो माह में पत्रकार कॉलोनी के सामने वाली लाइन ही पूरी नहीं की जा सकी है।

इसी तरह लिंक रोड और माता मंदिर के पास के क्षेत्र में लाइन के लिए फिर से खुदाई की कवायद है। ये काम अमृत योजना से टाटा कंपनी कर रही है।

Show More
देवेंद्र शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned