शहर में बूंद-बूंद का हो रहा इंतजार

निगम प्रशासन ने दावा किया है कि इस गर्मी में भी शहर की २० लाख से अधिक आबादी को ९७.५ एमजीडी पानी की आपूर्ति की जा रही है

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 16 May 2018, 11:01 AM IST

भोपाल। गर्मी में जलसंकट से शहरवासियों के संघर्ष की कहानियों के बीच निगम का एक नया दावा सामने आया। निगम प्रशासन ने दावा किया है कि इस गर्मी में भी शहर की २० लाख से अधिक आबादी को ९७.५ एमजीडी पानी की आपूर्ति कर रहा है। 

गौरतलब है कि बीते सात दिन से जोन दो के चार वार्डों की डेढ़ लाख आबादी के पास पानी नहीं है। कोलार में हर घर पानी पहुंचाने के दावों की समय सीमा बीते तीन माह से अधिक होने के बावजूद यहां महज ३३०० घरों तक ही पानी पहुंचाया जा रहा है। हाल ही में जलसंकट की वजह से पुलिस कॉलोनी के लोगों को सडक़ पर उतरना पड़ा था।

शहर को गर्मी में जलसंकट से राहत देने के लिए महापौर आलोक शर्मा ने जलकार्य इंजीनियरों को पार्षदों के साथ वार्ड का भ्रमण करने के निर्देश दिए थे, लेकिन आधे इंजीनियरों ने भी इसमें रुचि नहीं ली। इस पर महापौर ने इंजीनियरों की सोमवार देर रात तक जमकर क्लास भी ली और जलसंकट ग्रस्त क्षेत्रों में जलापूर्ति की व्यवस्था के फिर से निर्देश दिए।

बढ़ाई जा रही प्लांट से पानी लेने की क्षमता
श्यामला हिल्स फि ल्टर प्लांट की क्षमता 4.5 है। यहां से 3.5 एमजीडी पानी लेने की कोशिश की जा रही है। अरेरा हिल्स स्थित 5 एमजीडी संयंत्र से लगभग 1.5 एमजीडी पानी कम किया गया है। कोलार ग्रेविटी मेन एवं फ ीडर लाइन के लीकेज सुधार के लिए दो दिन का शटडाउन जल्द ही लिया जाएगा। कोलार तिराहे पर 1200 एमएम व्यास की फ ीडरमैन का बटरफ्लाइ वॉल्व बदला जाना है। शाहपुरा क्षेत्र में पाइप लाइन का बटरफ्लाइ वॉल्व बदला जाना है।

ढोल बजाते हुए कांग्रेसी पार्षद पहुंचे निगमायुक्त के पास
मंगलवार को नेता प्रतिपक्ष मोहम्मद सगीर के नेतृत्व में कांग्रेसी पार्षद ढोल बजाते हुए निगमायुक्त प्रियंकादास के पास पहुंचे। वे माता मंदिर पर जनसुनवाई कर रही थीं। कांग्रेसी पार्षदों ने उनसे पानी पर विशेष बैठक बुलाने की मांग की। इस दौरान काफी हंगामा भी किया गया।

स्थिति ये रही कि जनसुनवाई अधूरी छोडक़र ही निगमायुक्त को रवाना होना पड़ा। उनके जाने के बाद जनसुनवाई उपायुक्त बीडी भूमरकर ने पूरी की। बड़ा तालाब से ३० की जगह २३ एमजीडी पानी लेने की कोशिश बड़ा तालाब से अभी ३० एमजीडी पानी लिया जा रहा है। जलकार्य प्रभारी सीई एआर पंवार का कहना है कि कोशिश की जा रही है कि इसे २३ एमजीडी तक लाया जाय। बड़ा तालाब में घटते जलस्तर की वजह से एेसा किया जा रहा है।

इसकी पूर्ति कोलार और नर्मदा प्रोजेक्ट से पानी बढ़ाकर की जाएगी। इसी तरहवार्ड २४ और रोशनपुरा के कई क्षेत्रों में पर्याप्त जलापूर्ति नहीं होने की शिकायत लेकर क्षेत्रीय पार्षद शबिस्ता जकी ने निगमायुक्त कार्यालय के बाहर धरना दिय और समस्या बताई।

Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned