weather 2019 news : तीन घंटे में 107 मिमी बारिश हुई, आज के लिए रेड अलर्ट जारी

शहर में बारिश का कुल आंकड़ा 650.5 मिमी पहुंच गया

भोपाल। शहर में सोमवार शाम से देर रात तक तीन घंटे में 107 मिमी बारिश rain दर्ज की गई। यह सीजन में सबसे अधिक है। मौसम विभाग weather department ने दिनभर में (सुबह 8.30 से रात 11.30 के बीच) 141 मिमी दर्ज की। शहर में बारिश का कुल आंकड़ा 650.5 मिमी पहुंच गया। मौसम विशेषज्ञों ने मंगलवार को जिले में कुछ स्थानों पर भारी बारिश heavy rain को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है।


सामान्य से 0.5 डिग्री अधिक रहा
इस समय कई सिस्टम सक्रिय हैं, जिससे अच्छी बारिश हो रही है। प्रदेश के ऊपरी हिस्से में स्थित द्रोणिका बीचों-बीच से गुजर रही है। इससे दक्षिणी मप्र में बरसात हुई है। उधर, ओडिशा से प्रदेश के ऊपर से एक अन्य द्रोणिका गुजर रही है। दो द्रोणिकाओं एवं दक्षिणी-पूर्वी राजस्थान में बने सिस्टम के सम्मलित असर से भारी बारिश की स्थिति बनी है। सोमवार को शहर का अधिकतम तापमान 29.1 डिग्री दर्ज हुआ, जो रविवार के मुकाबले 4.3 डिग्री अधिक रहा। रात के तापमान में रविवार के मुकाबले एक डिग्री बढ़कर 23.5 डिग्री दर्ज किया गया। सामान्य से 0.5 डिग्री अधिक रहा।

mp

बारिश-हवा से गिरे पेड़, बिजली गुल
बारिश और हवा से शहर में सोमवार को पेड़ गिरे और बिजली गुल हुई। एमपी नगर-दो प्लॉट नंबर 141 में पेड़ गिरा। इससे एक घंटे बिजली आपूर्ति बंद रही। हज हाउस एयरपोर्ट रोड, वार्ड 21 हवा महल, अयोध्या नगर जी सेक्टर में एलआईजी 391 में पेड़ गिरे। भदभदा, नेहरू नगर, शंकर नगर, इंदिरा नगर एेशबाग समेत 10 स्थानों में बिजली गुल रही।

 

वही सोमवार रात 12 बजेे छोला थाने में पानी भर गया। स्टाफ ने पानी बढ़ते देख निकालना शुरू किया। साथ ही पुराना शहर, कोलार समेत कई जगहों पर जलभराव हो गया।

 

तेज बारिश के बीच मंत्री पीसी शर्मा राजीव नगर, नया बसेरा बस्ती सहित अन्य इलाकों मेें पहुंचे। यहां घरों में भरे पानी की स्थिति देखी।

news mp

बड़ा तालाब को 11 फीट तो कोलार डैम को अभी 19 मीटर पानी की है दरकार

महीने के आखिर में फिर से शुरू हुई बारिश से तालाब और डैम में पानी बढ़ रहा है, लेकिन इतना काफी नहीं। मानूसन में देरी से तालाब और डैम का जल स्तर डेडलेवल से काफी नीचे पहुंच गया था। बारिश से जल स्तर बढ़ रहा है, लेकिन फुल टैंक लेवल तक पहुंचने के लिए अगस्त महीने में लगातार बारिश की जरूरत है।


बड़ा तालाब को अभी 11 फीट पानी की जरूरत है, जबकि कोलार को 19 मीटर पानी और चाहिए। केरवा, कलियासोत की भी यही स्थिति है। बरसात के मौसम में भी राजधानी और उसके आसपास के जल स्रोत प्यासे हैं। यदि यह नहीं भरे तो राजधानी को वर्ष 2020 में भी गर्मियों के पहले जल संकट का सामना करना पड़ेगा। हालांकि मौसम विभाग द्वारा हवाओं के आधार पर लगाया गया गणित कुछ राहत देता नजर आ रहा है। इसमें जुलाई के आखिर और अगस्त की शुरुआत में अच्छी बारिश की संभावना जताई गई है।

bhopal news

जुलाई बीता पर जल स्रोत प्यासे


बड़ा तालाब
सोमवार को बड़ा तालाब का जल स्तर 1657.20 फीट पर पहुंच गया। बीते 24 घंटे में इसमें एक फीट की बढ़ोतरी दर्ज की गई। तालाब का फुल टैंक लेवल 1666.80 है। एेसे में करीब 11 फीट पानी और चाहिए।


कोलार डैम
कोलार डैम का जल स्तर तेजी से बढ़ते हुए एक दिन में दो मीटर तक बढ़ा। सोमवार को यह 443.94 मीटर पर पहुंच गया। इसका फुल टैंक लेवल 462.20 मीटर है। एेसे में करीब 19 मीटर पानी की जरूरत है।


केरवा डैम
केरवा डैम में सोमवार को 502.68 मीटर जल स्तर दर्ज किया गया। इसमें 24 घंटे में करीब आधा मीटर की बढ़ोतरी हुई। 509.93 मीटर के एफटीएल तक पहुंचने में सात मीटर पानी की और दरकार है।


कलियासोत डैम
सोमवार को कलियासोत का स्तर 489.30 मीटर पर रहा। इसमें ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हुई। इसका फुल टैंक लेवल 505.67 मीटर है। ऐसे में कलियासोत को अभी करीब 16 मीटर पानी की और दरकार है।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned