Weather Alert: आने वाला है चक्रवाती तूफान, इन जिलों में बारिश की संभावना

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र और तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान के कारण मध्यप्रदेश में मानसून की विदाई टल सकती है...।

By: Manish Gite

Published: 08 Oct 2020, 02:26 PM IST

भोपाल। देशभर के साथ ही मध्यप्रदेश से भी मानसून की विदाई का समय आ गया है, लेकिन बंगाल की खाड़ी में बन रहे सिस्टम और चक्रवाती तूफान के कारण कई राज्यों में मौसम की स्थिति बदल सकती है। मध्यप्रदेश में जाते-जाते मानसून फिर भारी बारिश का दौर शुरू कर सकता है।

 

मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी अंडमान सागर में 9 अक्टूबर को कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। इसके चक्रवाती तूफान बनकर आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाकों की ओर बढ़ने की आशंका है। कम दबाव वाले क्षेत्र से ओडिशा और तटीय आंध्र प्रदेश में 11 से 13 अक्टूबर के बीच बारिश हो सकती है। मौसम की जानकारी देने वाली स्कायमेट के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का जो क्षेत्र बन रहा है, उसके कारण मुंबई में बारिश का दौर जारी है। यह सिस्टम अगले 48 घंटों तक बंगाल की खाड़ी में ओडिशा और इससे सटे भागों के करीब बना रहेगा। उसके बाद ओडिशा के रास्ते जमीनी भागों की ओर बढ़ने से 10 अक्टूबर तक यह छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश तक पहुंच जाएगा। इसका असर मध्यप्रदेश तक दिखने से कई इलाकों में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है।

स्कायमेट के मुताबिक अगले दो-तीन दिनों के दौरान उत्तरी मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों में मानसून के वापस होने की भी संभावना है। इस कारण मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों से मानसून की विदाई कुछ समय के लिए टल सकती है। इस कारण मध्यप्रदेश के कई जिलों में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है।

 

 

Weather Alert : अगले दो दिन तेज बारिश की चेतावनी, 24 घंटे में 2 इंच बरसात

यहां हो सकती है बारिश

मध्यप्रदेश के शहडोल संभाग के जिलों में तथा सिवनी, मंडला, बालाघाट, छिंदवाड़ा जिलों में, होशंगाबाद संभाग के जिलों में तथा कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर जिलों में बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। वहीं कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं।

 

यहां गिर सकती है बिजली

प्रदेश के शहडोल संभाग के जिलों में तथा सिवनी, मंडला, बालाघाट, छिंदवाड़ा जिलों में गरज-चमक के साथ बिजली चमक सकती है। वहीं कहीं-कहीं बिजली भी गिरने की संभावना है। इन जिलों में बारिश की भी संभावना है।

 

यहां हुई बारिश

प्रदेश के लांजी में 8, बालाघाट, परसवाड़ा में 5, मलाजखंड में 4, सौसर, बिछिया, मंडला, पांढुर्णा, सिवनी, चांद में 3, केवलारी, नैनपुर, तामिया, वारासिवनी, कोतमा, पाटन में 2 सेमी बारिश दर्ज की गई।

 

यहां का तापमान बदला

प्रदेश के कई जिलों में अधिकतम तापमान में कमी आई है। जबकि प्रदेश के उज्जैन, ग्वालियर, रीवा, शहडोल और सागर संभागों के जिलों में सामान्य से अधिक तापमान रहा।

weather.png

यहां सबसे अधिक गर्मी

प्रदेश में सबसे अधिक तापमान गुना, दतिया, ग्वालियर, उज्जैन, नौगांव में दर्ज किया गया। इन स्थानों पर तापमान 37 डिग्री रहा। यहां प्रदेश में सबसे अधिक गर्मी रही। शहडोल संभाग के जिलों में सामान्य से काफी अधिक, रीवा, जबलपुर, होशंगाबाद संभागों के जिलों में सामान्य से अधिक तथा शेष संभाग के जिलों में सामान्य रहा। प्रदेश में सबसे कम तापमान दतिया का रहा। यहां 17 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

 

पिछले 24 घंटों का हाल

पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के शहडोल संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर, जबलपुर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर, होशंगाबाद और ग्वालियर संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश दर्ज की गई, जबकि शेष संभागों के जिलों में मौसम शुष्क रहा।

weather_forecast_news.png
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned