तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी, कई जिलों में चली धूल भरी हवाएं

- बादलों के असर से गर्मी से मिली राहत, केवल एक जिले में रहे लू जैसे हालात

- अरब सागर में बन रहा कम दबाव का क्षेत्र, मानसून बढ़ेगा आगे- प्रदेश में आज कई जगह बनेंगे गरज-चमक और आंधी के हालात

- सबसे ज्यादा तापमान खरगौन 44.5 तो सबसे कम ग्वालियर में मात्र 34.8 डिग्री दर्ज हुआ तापमान

By: praveen malviya

Published: 31 May 2020, 12:41 AM IST

भोपाल. नौतपे के बीच में आए बादलों ने पारे की चाल रोक दी है, पूरे प्रदेश में शनिवार को भी तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी रहा। प्रदेश के कई हिस्सों में बादल छाए रहे और कुछ जगहों पर तेज धूल भरी हवाएं भी चली, मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में मौसम के हालात ऐसे ही बने रहने का अनुमान व्यक्त किया है। इस दौरान पश्चिमी मध्यप्रदेश में से रीवा, ग्वालियर, चंबल, सागर, जबलपुर एवं शहडोल संभागों के जिलों सहित भोपाल एवं होशंगाबाद संभाग के जिलों में कहीं-कहीं गरज के साथ बिजली और तेज झोकेदार हवाएं चलने की संभावना है। जबकि इंदौर और उज्जैन संभागों के जिलों में मौसम शुष्क रहने की संभावना है। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 44.5 डिग्री खरगौन में दर्ज किया गया जहां लू जैसे हालात रहे वहीं, अधिकांश जिलों में तापमान 40 से 41 डिग्री के बीच दर्ज किया गया और तीखी गर्मी से काफी हद तक राहत रही। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि अगले 48 घंटों एक कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण पूर्व अरब सागर में बनने जा रहा है जिसके ताकतवर होकर अवसाद ( डिप्रेशन ) बनने की संभावना है। इससे मानसून के लिए स्थिति अनुकू  ल होगी। वहीं उत्तर पश्चिमी राजस्थान एवं पाकिस्तान के ऊपर चक्रवाती परिसंचरण बना है। वहीं एक परिसंचरण छत्तीसगढ़ पर भी बना है।

 

इसके असर से रीवा, ग्वालियर, चंबल, सागर, जबलपुर एवं शहडोल संभागों के जिलों और होशंगाबाद, भोपाल के हिस्सों में गरज-चमक और तेज हवाएं चलने का अनुमान है। खरगौन- 44.5 मंडला- 43.7रायसेन - 41.8राजगढ़- 41.5शाजापुर- 41.5

praveen malviya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned