चार जिलों में एक से डेढ़ इंच बारिश, नौ जिलों के लिए यलो अलर्ट

- प्रदेश की सीमा पर ही बना हुआ है कम दबाव का क्षेत्र, खाड़ी के साथ अरब सागर से भी आ रही नमी

- बंगाल की खाड़ी में आज फिर बनने जा रहा एक और कम दबाव का क्षेत्र

By: praveen malviya

Published: 17 Sep 2021, 11:09 PM IST

भोपाल. प्रदेश के उत्तरी हिस्से में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है वहीं मानसून द्रोणिका भी इस सिस्टम से बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। वहीं एक अन्य द्रोणिका अरब सागर से कम दबाव के क्षेत्र तक बनी हुई है। इन तीन सिस्टमों के असर से प्रदेश में मानसून की गतिविधियां जारी हैं। वहीं गुरुवार को नया सिस्टम बनने जा रहा है जिससे बारिश आगे भी जारी रहने का अनुमान है।

प्रदेश में शुक्रवार सुबह तक ग्वालियर में पौने दो इंच, धार में डेढ़ इंच, खंडवा में सवा इंच, उज्जैन में एक इंच, इंदौर में पौन इंच, होशंगाबाद में आधा इंच से कुछ अधिक तो शाजापुर और रतलाम में आधा-आधा इंच बारिश दर्ज गई। इसके अलावा रीवा,जबलपुर, बालाघाट, उमरिया, दमोह, टीकमगढ़ में पांच से 10 मिमी के बीच बारिश दर्ज हुई।

दिन में बारिश कुछ कम हुई और शाम तक मण्डला में एक इंच तो सागर में आठ, ग्वालियर में सात, भोपाल मेंचार और नौगांव, रीवा और खरगौन में तीन-तीन मिमी बारिश ही दर्ज हुई।

नौ जिलों में अलर्ट

मौसम विभाग ने राजगढ़, झाबुआ, रतलाम, उज्जैन, शाजापुर, आगर, भिंड, मुरैना और श्योपुरकलां में कहीं-कहीं भारी वर्षा का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

आज बनेगा एक और सिस्टम

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने बताया कि, बंगाल की खाड़ी में शनिवार को एक ओर कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है। इसके असर से अगले तीन से चार दिनों में प्रदेश पर प्रभाव दिखेगा। यह सिस्टम उत्तरी मप्र पर असर दिखाएगा।

praveen malviya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned