गरज-चमक के साथ बन रही है बारिश की स्थिति, गर्मी से मिलेगी राहत

इस माह नौ दिन में अब तक 82.2 मिमी बारिश हो चुकी है....

By: Ashtha Awasthi

Updated: 10 Jun 2021, 11:22 AM IST

भोपाल। जून मानसून के आगमन का महीना माना जाता है। अभी प्रदेश की सीमा में दो तीन दिनों में मानसून पहुंचने की उम्मीद है, लेकिन इसके पहले ही प्री मानसून (weather forecast) ने शहर मानसून जैसा अहसास करा दिया है। मंगलवार की रात शहर में झमाझम बारिश हुई। बारिश का क्रम लगभग सारी रात चलता रहा इस दौरान कभी तेज तो कभी मध्यम बौछारों से शहर भीगता रहा। वहीं बुधवार को उमस ने लोगों को परेशान किया।

पिछले 24 घंटे में शहर में 57.4 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं इस माह नौ दिन में अब तक 82.2 मिमी बारिश हो चुकी है। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि इन दिनों प्रदेश में बहुत नमी आ रही है, इससे शाम को बाद व गरज-चमक के साथ बारिश की स्थिति बन रही है। यह क्रम अभी जारी रहेगा।

MUST READ: शुरु हो गई है प्री मानसून बारिश, आने वालों कुछ घंटों में हो सकती है तेज बारिश

प्री-मानसून बारिश से तरबतर हुआ यूपी, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट, इन जिलों में होगी और भारी बारिश

जून में 40 डिग्री पार नहीं हो पाया तापमान

कभी बादल, कभी बारिश तो कभी धूप के चलते तापमान में भी इन दिनों उतार चढ़ाव का दौर चल रहा है। आमतौर पर जून के पहले पखवाड़े में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से अधिक रहता है, लेकिन इस साल पिछले 9 दिनों में एक बार भी तापमान 40 डिग्री को पार नहीं कर पाया है। एक जून को अधिकतम तापमान 40 डिग्री दर्ज हुआ था ।

बंगाल की खाड़ी से मिल रही नमी

वहीं बात इंदौर शहर की करें तो यहां पर भी मानसून दो तीन दिन में सक्रिय होगा। यहां बारिश 20 जून के पहले ही बरसने की उम्मीद है। बुधवार को दिन में आसमान साफ था। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से मिल रही नमी के कारण शाम को सीवी क्लाउड बनें और गरज चमक होने लगी। इसके बाद विजय नगर, कनाडिया और मध्य एरिया में करीब एक घंटे तक जम कर बरसे। करीब 5 एमएम बारिश दर्ज की गई। जबकि एक दिन पहले पश्चिम में एक इंच बारिश दर्ज की गई थी

जल्द सक्रिय होगा मानसून

दिन का अधिकतम तापमान 36.8 व न्यूनतम पारा 25.0 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला के अनुसार इस बार मानसून की सक्रियता समय से पहले हो गई है । आगामी 2 से 3 दिनों में मानसून की प्रदेश में प्रवेश करने की प्रबल संभावनाएं हैं। इसकी वजह मानसून अरब सागर से गुजरात, महाराष्ट्र तेलंगाना से आंध्रप्रदेश होते हुए बंगाल की खाड़ी से आगे बागडोगरा पश्चिम बंगाल तक जा रहा है। जल्द ही यह उत्तर-पूर्वी इलाकों में फैल जाएगा। जिसके असर से मध्य में प्रवेश करेगा। प्रदेश के साथ ही इंदौर में जल्द सक्रिय होगा ।

Weather forecast
Show More
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned