Weather Alert: यहां पड़ेगा चक्रवात का असर, बदल जाएगा मौसम

राजस्थान के ऊपर चक्रवात बन सकता है, इसके कारण मध्यप्रदेश में बारिश और ओले गिर सकते हैं...।

By: Manish Gite

Updated: 06 Jan 2020, 01:28 PM IST

 

भोपाल। राजस्थान के ऊपर बनने जा रहे नए चक्रवात का असर मध्यप्रदेश में भी पड़ने वाला है। 7 जनवरी से फिर मौसम गड़बड़ा जाएगा और बारिश, ओलावृष्टि और घना कोहरे से लोग प्रभावित हो सकते हैं। IMD .gov.in/imd_latest/contents/satellite.php" target="_blank">मौसम विभाग ( imd ) का यह पूर्वानुमान 7 जनवरी से 9 जनवरी तक के लिए है।

मध्यप्रदेश में बीते 24 घंटों के दौरान बादल हटते ही भोपाल में रात का तापमान में चार डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। वहीं रविवार को दिनभर धूप घिरी और तापमान में बढ़ोतरी हो गई। इस कारण लोगों को थोड़ी राहत मिली। मौसम विभाग ने सोमवार सुबह बुलेटिन जारी कर आने वाले तीन दिनों के लिए पूर्वानुमान जारी किया है।

 

अधिक जानकारी के लिए देखें
MAUSAM.IMD.GOV.IN

 

 

weather1.jpg

चक्रवात का यहां पड़ेगा असर
मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला के मुताबिक 7 जनवरी को एक और वेस्टर्न डिस्टरबेंस के पहुंचने की संभावना है। इसके साथ ही राजस्थान के पास हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन सकता है। इसका असर मध्यप्रदेश के मौसम पर भी पड़ेगा। भोपाल में बादल छाने और ग्वालियर-चंबल और उससे लगे इलाकों में बारिश का पूर्वानुमान है। दो दिन में न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी और अधिकतम तापमान में कमी आने के आसार हैं।

 

बैतूल और शिवपुरी में 4 डिग्री
-मध्यप्रदेश के बैतूल में रात का तापमान सबसे कम हो गया है। यहां सोमवार सुबह 4 डिग्री से. दर्ज किया गया।
-भोपाल में न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री पर है, जबकि अधिकतम तापमान 21.8 डिग्री पर है।
-दतिया में न्यूनतम तापमान 8.1 डिग्री दर्ज किया गया। जो सामान्य से 2.9 डिग्री कम था।
-आम तौर पर सबसे गर्म रहने वाले खरगौन जिले में तापमान 6.2 डिग्री दर्ज किया गया।
-पचमढ़ी में तापमान 4.2 डिग्री पहुंच गया। यहां ठंड का मजा लेने पर्यटकों की भी भीड़ है।
-रायसेन जिले का न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री पर है, जबकि यहां अधिकतम तापमान 21.8 डिग्री है।
-मध्यप्रदेश के शिवपुरी में भी न्यूनतम तापमान 4 डिग्री रिकार्ड किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 20 डिग्री रिकार्ड किया गया।

 

weather2.jpg

तीन घंटे तक लेट हुई उड़ानें
भोपाल के राजाभोज एयरपोर्ट पर कई फ्लाइट तीन घंटे देरी से लैंड हुई। रविवार को स्पाइसजेट की एसजी 2623 दिल्ली-भोपाल उड़ान तीन घंटे विलंब से लैंड हुई। इंडिगो की 6ई 2035 दिल्ली-भोपाल फ्लाइट भी सवा दो घंटे देरी से राजाभोज एयरपोर्ट पर लैंड हुई। इसी तरह इडिगो की 6ई-5301 मुंबई-भोपाल फ्लाइट पौने दो घंटे देरी से आ सकी। दिल्ली और मुंबई रूट से उड़ान लेट आने वाली फ्लाइट भोपाल से भी देरी से रवाना हो रही है।

 

 

ट्रेनों की रफ्तार कम हुई
उधर, उत्तर भारत में पड़ रहे घने कोहरे का असर रेल सेवा पर भी पड़ने लगा है। अमृतसर-नांदेड़ एक्सप्रेस साढ़े तेरह घंटे की देरी से भोपाल आई। श्रीधाम एक्सप्रेस 10 घंटे तो शताब्दी ेक्सप्रेस दो घंटे देरी से हबीबगंज पहुंची। इस तरह 24 से अधिक ट्रेनें विलंब से चल रही हैं। तमिलनाडू एक्सप्रेस 8 घंटे देरी से, कर्नाटक एक्सप्रेस 7.45 घंटे देरी से, भोपाल एक्सप्रेस 7 घटे देरी से, मालवा एक्सप्रे 6 घंटे, गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्निमस एक्सप्रेस 1.42 घंटे देरी से, जीटी एक्सप्रेस 6.17 घंटे देरी से, पंजाब मेल 2 घंटे देरी से और जोधपुर-भोपाल एक्सप्रेस 4.40 घंटे की देरी से भोपाल पहुंची।

 

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned