scriptWestern disturbance will create a dangerous cyclone on January 16 | 16 जनवरी को खतरनाक चक्रवात बनाएगा पश्चिमी विक्षोभ, फिर बिगड़ेगा मौसम, जानिए कैसे रहेंगे अगले पांच दिन | Patrika News

16 जनवरी को खतरनाक चक्रवात बनाएगा पश्चिमी विक्षोभ, फिर बिगड़ेगा मौसम, जानिए कैसे रहेंगे अगले पांच दिन

locationभोपालPublished: Jan 15, 2024 08:09:10 pm

Submitted by:

deepak deewan

एमपी में मौसम के तेवर लगातार बदल रहे हैं। दो दिन पहले प्रदेशभर में कड़ाके की ठंड पड़ रही थी लेकिन एकाएक पारे में उछाल सा आ गया। हाल ये है कि राज्य में अधिकांश जगहों पर तापमान सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियश तक ज्यादा बना हुआ है। दो दिन से अच्छी धूप खिल रही है। प्रदेशवासियों ने इससे कुछ राहत महसूस की लेकिन मौसम एक बार फिर बिगड़नेवाला है। दरअसल 16 जनवरी से नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिससे एमपी के पास चक्रवातीय घेरा बनेगा। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ से मौसम में खासा बदलाव होगा।

chakrawat2.png
नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिससे एमपी के पास चक्रवातीय घेरा बनेगा

भोपाल. एमपी में मौसम के तेवर लगातार बदल रहे हैं। दो दिन पहले प्रदेशभर में कड़ाके की ठंड पड़ रही थी लेकिन एकाएक पारे में उछाल सा आ गया। हाल ये है कि राज्य में अधिकांश जगहों पर तापमान सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियश तक ज्यादा बना हुआ है। दो दिन से अच्छी धूप खिल रही है। प्रदेशवासियों ने इससे कुछ राहत महसूस की लेकिन मौसम एक बार फिर बिगड़नेवाला है। दरअसल 16 जनवरी से नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिससे एमपी के पास चक्रवातीय घेरा बनेगा। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ से मौसम में खासा बदलाव होगा।

चक्रवातीय घेरे से घिरेंगे बादल
मौसम वैज्ञानिक बताते हैं कि 16 जनवरी को नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इसके कारण राजस्थान में चक्रवातीय घेरा बनेगा। इससे हवा पर भी असर होगा और इसका रुख उत्तर पश्चिमी हो जाएगा। हवा में नमी भी आएगी हालांकि न्यूनतम तापमान सामान्य ही बना रहने का अनुमान है। रात में मध्यम कोहरा छाने की संभावना है।

विभागीय अधिकारियों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से 16 जनवरी के बाद मौसम खराब होगा। कई दिनों के बाद खिली धूप हमसे फिर
छिन जाएगी क्योंकि इससे बादल छाएंगे। हालांकि मौसम बिगड़ेगा पर एक अच्छी खबर भी है। मौसम विभाग के अनुसार भले ही बादल छाएंगे पर इनके बरसने की संभावना नहीं है, यानि बारिश नहीं होगी।

अगले पांच दिनों तक मौसम के मिजाज कुछ ऐसे ही बने रहेंगे। इस अवधि में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा लेकिन कड़ाके की ठंड नहीं पड़ेगी। मौसम विभाग का अनुमान है उत्तर भारत में सक्रिय हो रहे पश्चिमी विक्षोभ का राज्य में व्यापक असर होगा। हल्के बादल छाएंगे, लेकिन बरसेंगे नहीं। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के गुजर जाने के बाद जब दोबारा मौसम बदलेगा तब कड़ाके की ठंड पड़ सकती है।

ट्रेंडिंग वीडियो