मनरेगा पर क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

मनरेगा को कोसने वालों को अब समझ में आया महत्व : कमलनाथ



By: Arun Tiwari

Updated: 16 May 2020, 06:55 PM IST

भोपाल : पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। कमलनाथ ने कहा कि बेहद ख़ुशी की बात है कि जो भाजपा के लोग कांग्रेस सरकार की प्रमुख योजना मनरेगा को जमकर कोसते थे। मनरेगा को भजपा ने असफलता का राष्ट्रीय स्मारक तक बता दिया था। आज सार्वजनिक रूप से स्वीकार कर रहे हैं कि कोरोना महामारी के इस भीषण संकट के दौर में उससे लाखों लोगों को काम मिल रहा है।

कमलनाथ ने कहा कि भाजपा सरकार मजदूरों को रोजगार देने के लिए कोई और रास्ता तैयार नहीं कर पाई और उसी मनरेगा योजना पर आश्रित है। वहीं उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के औरैया में सड़क दुर्घटना में बड़ी संख्या में मजदूरों की मौत की जानकारी मिली है। अपनी घर वापसी कर रहे प्रवासी मजदूरों की सड़कों पर मौत का सिलसिला आखिर कब थमेगा। कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सरकार अपने डेढ़ माह के कार्यकाल में ही प्रदेश के कर्मचारियों को राहत देने की बजाय कर्मचारी विरोधी फैसले ले रही है। इससे उसकी कर्मचारी विरोधी मानसिकता उजागर हो रही है।

भारी भरकम बिल से जनता को लूटने की योजना :
कमलनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने इंदिरा गृह ज्योति योजना शुरु कर प्रदेश के एक करोड़ से अधिक उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली उपलब्ध कराई थी। प्रदेश का हर वर्ग इस योजना का लाभ ले रहा था लेकिन हमारी सरकार जाते ही उपभोक्ताओं पर वापस भारी भरकम बिजली बिलों की मार शुरू हो गयी है।
हमें प्रदेश भर से शिकायतें प्राप्त हो रही है। लूट-खसोट का खेल वापस चालू हो गया है। कमलनाथ ने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि जनता को इंदिरा गृह ज्योति योजना का फायदा दिया जाए। कांग्रेस इस मामले में चुप नहीं बैठेगी और लॉक डाउन के बाद इस माँग को लेकर सड़क पर लड़ाई लड़ेगी।

mp kamalnath
Arun Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned