कांग्रेस में रहते कहा था दारू वाली, अब वही कांग्रेस से होगी मैदान में

कांग्रेस में रहते कहा था दारू वाली, अब वही कांग्रेस से होगी मैदान में

By: Hitendra Sharma

Published: 18 Sep 2020, 03:56 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश की सियासत उपचुनाव पहले बुंदेलखंड से बीजेपी के पूर्व विधायक ने कांग्रेस का दामन थाम लिया। यह पूर्व विधायक मध्यप्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के खिलाफ चुनाव लड़ चुकी हैं और सागर जिले की सुरखी विधानसभा में एक बार फिर कांटे की टक्कर होने के कयास लगाये जा रहे हैं।

 

फिर आमने सामने
बीजेपी की पूर्व विधायक पारुल साहू 2013 में 2013 में गोविंद राजपूत को चुनाव हरा चुकी हैं। फर्क सिर्फ इतना था कि तब पारुल साहू बीजेपी में थी और गोविंद सिंह कांग्रेस में। अब पार्टीयां बदल गई हैं। पारुल की छवि इस क्षेत्र में पढ़ी लिखी नेता के रुप में हैं। विदेश से पढ़ाई करने वाली पारुल ने बुंदेलखंड की राजनीति में अपनी अलग जहग बनाई हैष हालांकि भाजपी ने गोवंद सिंह को चुनाव हराने के बाद भी 2018 में टिकट नहीं दिया था। बताया जा रहा है कि पारुल पूर्व सीएम कमलनाथ साथ काफी लंबे समय से संपर्क में थी।

गोविंद सिंह के बिगड़े थे बोल

जब मंत्री गोविंद राजपूत कांग्रेस में थे तब भरी सभा में उंदोंने पारुल साहू के खिलाफ बोलते हुए मर्यादा छोड़ दी और दारू वाली तक कह दिया था। 16 नवंबर 2017 को सेमाढाना गांव में सभा लेते हुए गोविंद राजपूत ने कहा था शराब जितनी पुरानी होती है उसे उतना अच्छा माना जाता है। क्षेत्र की विधायक दारू वाली है, उन्हें पुरानी सड़कें अच्छी लगती हैं। इसलिए उनका ध्यान जर्जर सड़कों की ओर नहीं जाता। जिसको लेकर पारुल ने उनके ऊपर मानहानि का मामला भी दर्ज कराया था।

 

कांग्रेस नेता ने की महिला पर टिप्पणी, बोले- दारू जितनी पुरानी, उतनी अच्छी
बीजेपी की इस दिग्गज नेता ने लिया राहुल गांधी से मिलने का फैसला, कांग्रेस-भाजपा में हड़कंप

वीडियो हुआ था वायरल

गोविंद सिंह के बयान के बाद उनका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया था और इस मामले में जमकर बयानबाजी हुई थी। अब एक बार फिर दोनों प्रतिद्वदी फिर मैदान में दिखाई दे रहे हैं। पारूल के मैदान में आने के बाद मंत्री गोविन्द के लिये विधानसभा की राह आसान दिखाई नहीं दे रही है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned