अटकलों का बाजार, क्या महिला नेत्री को मिलेगी एमपी कांग्रेस की कमान ?

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर फिर चर्चाओं ने पकड़ा जोर, क्या पहली बार प्रदेश में महिला को मिलेगी नेतृत्व की जिम्मेदारी..

By: Shailendra Sharma

Published: 16 Dec 2020, 04:46 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश के सियासी गलियारों में इन दिनों प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर चर्चाएं जोरों पर हैं। पहले सत्तारूढ़ सरकार के गिरने और फिर विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस को मिली हार के बाद से लगातार ही इस तरह की खबरें जोर पकड़ रही थीं कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के लिए अब कमलनाथ की जगह किसी और चेहरे पर भरोसा जताया जाना चाहिए। अब खबरें हैं कि कमलनाथ ने भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की है।

 

singhar.jpg

इन नामों की चर्चा
कमलनाथ के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश किए जाने की खबरों के बीच ही ये सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिरकार फिर ऐसा कौन सा चेहरा है जिस पर कांग्रेस मध्यप्रदेश में भरोसा जता सकती है। पूर्व मंत्री उमंग सिंघार, जीतू पटवारी और सज्जन वर्मा के नाम सामने भी आ रहे हैं ।

 

mahila.jpg

क्या महिला नेत्री को मिलेगी कमान ?
तमाम चर्चाओं के बीच एक सवाल ये भी खड़ा होता दिख रहा है कि क्या किसी महिला को प्रदेश कांग्रेस का प्रतिनिधित्व नहीं दिया जा सकता है। फैसला कठिन है लेकिन इसके कई फायदे भी कांग्रेस को हो सकते हैं। फायदे क्या होंगे इसके बारे में बात करेंगे लेकिन पहले उन महिला चेहरों की चर्चा करते हैं जिनके नामों की चर्चा सियासी गलियारों में चल रही है।


- मीनाक्षी नटराजन- मंदसौर से पूर्व सांसद और ब्राह्मण जाति से सशक्त महिला उम्मीदवार
- विजयलक्ष्मी साधौ- पूर्व मंत्री और राजनीति का अच्छा अनुभव
- शोभा ओझा- प्रदेश कांग्रेस की मीडिया प्रवक्ता रहीं व मध्यप्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष हैं।

 

देखें वीडियो-

आधी आबादी को जाएगा अच्छा संदेश
मध्यप्रदेश के इतिहास में अभी तक किसी भी महिला को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की कमान नहीं मिली है। लेकिन अगर कांग्रेस महिला नेत्री को प्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपने का जोखिम उठाती है तो वो प्रदेश की आधी आबादी पर एक अच्छा संदेश छोड़ने में कामयाब हो सकती है। कुछ राहत बीजेपी की तरफ से लगातार होने वाले हमलों से भी मिलने की उम्मीद है क्योंकि महिला नेत्री पर बीजेपी की तरफ से उतनी आक्रामकता दिखाए जाने के आसार कम हैं जितनी कि किसी पुरुष नेता पर दिखाई जाती रही है। उम्मीद इसलिए भी बढी है क्योंकि देश में कांग्रेस का प्रतिनिधित्व भी सोनिया गांधी के हाथों में हैं ऐसे में महिला नेत्री को प्रदेश अध्यक्ष की कमान देकर पार्टी मध्यप्रदेश में एक नई शुरुआत कर सकती है।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned