जिसकी भी बने सरकार, प्रदेश से होंगे पांच अहम किरदार

जिसकी भी बने सरकार, प्रदेश से होंगे पांच अहम किरदार
madhyapradesh-mahamukabla-2019

Anil Chaudhary | Updated: 22 May 2019, 05:18:27 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

कल सभी के सामने होगा लोकसभा का चुनाव परिणाम

भोपाल. लोकसभा चुनाव का परिणाम गुरुवार को सभी के सामने होगा। इसके बाद केंद्र में एनडीए की सरकार बने या यूपीए की मध्यप्रदेश का दबदबा हर हाल में कायम रहेगा। मोदी सरकार बनी तो भाजपा के पांच चेहरे मुख्य भूमिका मेंं रहने वाले हैं। वहीं, यूपीए की सरकार बनी तो भी कांग्रेस के कुछ नेताओं का कद बढऩा तय है।
- भाजपा : ये चहरे रहेंगे मुख्य भूमिका में
नरेंद्र सिंह तोमर - चुनाव जीते तो तीसरी बार के सांसद होंगे। एक बार राज्यसभा सदस्य रह चुके हैं। वर्तमान सरकार में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग का जिम्मा है। भाजपा की सरकार बनी तो तोमर को प्रमुख पांच विभागों में से कोई एक मिलने की संभावना है।
थावरचंद गेहलोत - राज्यसभा सदस्य और केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री हैं। उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव प्रभारी बनाए गए थे। वहां भाजपा को सभी सीटें मिलने की उम्मीद हैं। ऐसे में गहलोत का कद बढऩा तय है। दलित चेहरे के रूप में भी उन्हें कैबिनेट में अहम विभाग मिल सकता है।
डॉ. वीरेंद्र कुमार खटीक - खटीक इस बार टीकमगढ़ से जीते तो सातवीं बार के सांसद होंगे। मोदी सरकार में वे अल्पसंख्यक कल्याण और महिला बाल विकास विभाग के राज्यमंत्री हैं। मोदी सरकार बनने पर खटीक को कैबिनेट मंत्री या राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का दर्जा दिया जा सकता है।
राकेश ङ्क्षसह - भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह इस बार जीते तो चौथी बार के सांसद होंगे। राकेश सिंह वर्तमान संसद में भाजपा के मुख्य सचेतक रह चुके हैं। वे संसदीय कार्य के जानकार माने जाते हैं। शाह के करीबी राकेश ङ्क्षसह को इस बार केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है।
प्रहलाद पटेल - पटेल अटल सरकार में कोयला मंत्री रह चुके हैं। उमा भारती के चुनाव नहीं लडऩे के कारण लोधी वर्ग को साधने के लिए पटेल को मोदी सरकार में अहम विभाग मिल सकता है। पटेल इस बार चुनाव जीते तो पांचवीं बार के सांसद होंगे।
- संगठन में बढ़ेगा शिवराज का कद
भाजपा उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान चुनाव में केंद्रीय भूमिका में रहे। उन्होंने 144 सभाएं कीं और लगभग 56 दिन तक दौरे किए। मोदी सरकार बनने पर उनका कद बढऩा तय है। मध्यप्रदेश में ज्यादा सीटें बढऩे पर प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत का भी वजन बढ़ जाएगा।

 

- कांग्रेस : ये चेहरे रहेंगे मुख्य भूमिका में
ज्योतिरादित्य सिंधिया - यूपीए की सरकार बनने पर कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया को सबसे अहम विभाग मिलना तय है। उन्हें विदेश या रक्षा जैसा अहम विभाग मिल सकता है। सिंधिया इस समय कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे यूपीए सरकार में मंत्री भी रहे हैं।
कांतिलाल भूरिया - यूपीए सरकार बनने और भूरिया के चुनाव जीतने पर उनकी अहम भूमिका तय है। आदिवासी चेहरे के साथ ही भूरिया छठवीं बार सांसद बनने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। वे 2014 में यहां से भाजपा के दिलीप भूरिया से हारे थे। 2015 में हुए उपचुनाव में उन्होंने ये सीट वापस ले ली।
दिग्विजय ङ्क्षसह - भोपाल सीट से चुनाव मैदान में उतरे दिग्विजय यूपीए की सरकार बनने पर बड़े पद पर काबिज होंगे। वे राज्यसभा के सदस्य हैं, इसलिए भोपाल सीट पर प्रज्ञा ठाकुर से कड़ी टक्कर के बावजूद उनका भविष्य सुरक्षित है।
सुरेश पचौरी - यूपीए की सरकार बनी तो पचौरी को भी मंत्रिमंडल में स्थान मिल सकता है। आने वाले वक्त में उन्हें राज्यसभा मेंं भेजा जा सकता है।
अरुण यादव - खंडवा सीट से चुनावी मैदान मेंं उतरे यादव यूपीए सरकार में मंत्री रह चुके हैं। वे एक बार फिर सरकार बनने पर मंत्री पद के दावेदार होंगे, लेकिन खंडवा में उन्हें नंदकुमार चौहान से कड़ा मुकाबला करना पड़ रहा है।
- कमलनाथ का बढ़ेगा कद
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री कमलनाथ इस बार चुनाव में प्रदेश में केंद्रीय भूमिका में रहे हैं। उन्होंने पूरे प्रदेश में 132 सभाएं कीं और हर सीट पर पहुंचे। कांग्रेस की सरकार बनने पर कमलनाथ का कद बढऩा तय है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned