सिर पर 50 ग्राम से ज्यादा वजन नहीं रख सकता, साबुन भी घिसी हुई लगाता हूं, हेलमेट कैसे लगाऊं

सड़क सुरक्षा सप्ताह : 500 लोगों ने निबंध लेखन में बताए हेलमेट नहीं लगाने के अजीब तर्क

भोपाल. सड़क सुरक्षा सप्ताह के छठे दिन ट्रैफिक पुलिस ने रोशनपुरा चौराहे पर बिना हेलमेट ड्राइव कर रहे दो पहिया चालकों को रोककर उनसे हेलमेट नहीं पहनने की वजह जानने को लेकर 100-100 शब्द का निबंध लिखवाया। करीब 500 लापरवाह चालकों ने निबंध प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। इनमें अधिकतर लोगों ने अजीब तर्क लिखा। जिसे पढ़कर पुलिस अधिकारी भी हैरान हैं। हालांकि, इनमें से कई लोगों ने इसे अपनी जिंदगी की इसे जानलेवा लापरवाही मानी। उन्होंने निबंध में ही शपथ ली कि आज से वह हेलमेट पहनकर ही बाइक लेकर चलेंगे। जिससे उनके जीवन की सुरक्षा हो सके।

 

Why do people not wear a helmet while riding a motorcycle

निबंध में किस तरह के तर्क
गोपाल वर्मा: मेरी दादी की अचानक तबियत खराब हो गई। जल्दी-जल्दी में मुझे हेलमेट पहनने की याद नहीं आई।
अंजली: मेरी सहेली के घर में प्रॉब्लम है, उसे जल्दी में बस स्टैण्ड छोडऩा था। ऐसे में हेलमेट नहीं पहन पाई।
अनुराग देशमुख: मेरी एक्टिवा पंचर हो गई थी। पंचर बनवाने आया था।
फतेबहादुर शाह: मैं बेरोजगार हूं। एक हजार रुपए हर महीने कमा नहीं पाता। आप ही बताइए हेलमेट कैसे खरीद लूं।
उज्ज्वल कुमार: मुझे जल्दी काम पर जाना था। इसलिए हेलमेट नहीं पहना।
दर्शन लाल अहिरवार: सर्वाइकल प्रॉब्लम की वजह से डॉक्टर ने सिर पर 50 ग्राम से अधिक वजन रखने से मना किया है। साबुन भी घिसी हुई लगाता हूं।
आनंदी: मुझे चश्मा लगा है। इसलिए हेलमेट नहीं लगाती।
रामनारायण: मेरी जिंदगी कि यह सबसे बड़ी गलती है। आज अहसास हुआ। अब हेलमेट पहनकर ही बाइक से निकलूंगा।
(नोट: निबंध में तर्क लिखने वालों के नाम ट्रैफिक पुलिस के बताए अनुसार)

फूल देकर किया पुलिस ने स्वागत
ट्रैफिक पुलिस ने शहर के अलग-अलग तिराहे-चौराहे पर उन वाहन चालकों को फूल देकर स्वागत किया जो ट्रैफिक का नियम पालन करते मिले। पुलिस ने इस दौरान लोगों से ट्रैफिक सुधार को लेकर सलाह भी वाहन चालकों से लिया। पुलिस इस दौरान वाहनों में ट्रैफिक नियम पालन करने वाले जागरूकता संदेश लिखे स्टीकर लगाए।

सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान बिना हेलमेट पहनने वाले बाइक चालकों से निबंध लिखाया गया। पुलिस उनका हेलमेट नहीं पहनने का तर्क जानना चाहती थी। निबंध प्रतियोगिता के बाद इन चालकों को आगे से हेलमेट पहनने की शर्त पर छोड़ा गया।
-प्रदीप सिंह चौहान, एएसपी, ट्रैफिक

Show More
नीलेंद्र कुमार Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned