scriptWith persistence, mini forest has been prepared in the city | अपनी जिद से शहर में तैयार कर दिया मिनी फॉरेस्ट | Patrika News

अपनी जिद से शहर में तैयार कर दिया मिनी फॉरेस्ट

International Day of Forest: प्लास्टिक वेस्ट को कम करने उसमें तैयार कर रहे नए पौधे

भोपाल

Published: March 21, 2022 01:00:02 am

भोपाल. राजधानी की हरियाली और वातावरण हमेशा से यहां आने वाले हर व्यक्ति को अपनी ओर आकर्षित करता रहा है, लेकिन पिछले कुछ सालों में शहर का फॉरेस्ट एरिया 22 प्रतिशत से घटकर महज 9 प्रतिशत रह गया है। ऐसे में अन्य शहरों की तरह यहां भी भीषण गर्मी पडऩे लगी है। शहर के कुछ युवा ऐसे भी हैं जिन्होंने अपनी स्तर पर मुहिम चलाई और मिनी फॉरेस्ट डेवलप कर दिया। इन्हीं से प्रेरणा लेकर अब अन्य लोग भी पौधरोपण कर रहे हैं। इनमें से कुछ युवा ऐसे हैं जिन्होंने प्लास्टिक वेस्ट की समस्या को हल करने के लिए वेस्ट आइटम्स में ही पौधे तैयार किए ताकि प्रकृति को भी प्रदूषण से बचाया जा सके।

jt_alpana.jpg
jt_alpnaa1.jpg

अब तक डेढ़ हजार पौधे कर चुकी हूं तैयार
अल्पना झा ने बताया कि 2015 में मैंने टायर को काटकर उसमें पौधे लगाना शुरू किए। घर की खूबसूरती बढ़ी तो ख्याल आया कि क्यों ना पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले प्लास्टिक का उपयोग गमले बनाने में किया जाए। अब तक करीब 1500 पौधे लगा चुकी हूं। मुझे देखकर अन्य लोग भी पौधरोपण करने लगे। मैं स्कूल-कॉलेज में जाकर लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक भी करती हूं। अब मैं लोगों के लिए पौधे तैयार करती हूं ताकि वे भी शहर की हरियाली को बढ़ाएं।

jt_sparsh.jpg

तीन साल में रंग लाने लगी मुहिम
ड्रीम भोपाल ग्रीन भोपाल के फाउंडर स्पर्श द्विवेदी ने बताया कि मैं एक इश्योरेंस कंपनी में जॉब करता हूं। पिछले कुछ सालों से शहर का तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है। भोपाल का ग्रीन कवर 22 प्रतिशत से घटकर 9 प्रतिशत हो गया है। 2019 में दोस्तों ने मिलकर एक मुहिम शुरू की और ड्रीम भोपाल ग्रीन भोपाल नाम से फेसबुक पेज बनाया। आज इस पेज से करीब 5 हजार लोग जुड़े हैं। अब तक ग्रुप करीब 15 हजार पौधे लगा चुका है। हमने एयरपोर्ट रोड पर करीब छह हजार और गांधी नगर के पास करीब ढाई हजार पौधे लगाकर यहां मिनी फॉरेस्ट डेवलप किया। कोविड ने सभी को सबक दिया है कि हम प्रकृति को उपेक्षित नहीं कर सकते और जितना हम प्रकृति से जुड़े रहेंगे उतना आपदाओं से बचेंगे। हमने अपनी मुहिम से नगर निगम, आर्मी, बीएसएफ और एसएसबी को भी जोड़ा ताकि इन पौधों की देखभाल हो सके।

jt_sakshi.jpg

450 प्रजातियों के 4 हजार पौधे रौपे
प्रो. साक्षी भारद्वाज ने बताया कि मैंने अपने गार्डन में 450 तरह की प्रजातियों के प्लांट्स, 150 तरह के एग्जॉटिक पौधे 4000 से ज्यादा गमलों में लगाएं हैं। पहले घर के बाहर दलदली जमीन थी। पौधे लगाने के बाद जमीन भी अच्छी हो गई। कुछ ऐसे रेयर प्लांट्स हैं जो घर में रखने पर काफी ऑक्सीजन जेनरेट करते हैं। जैसे पीस लिली और मनी प्लांट्स, यह सभी हाई ऑक्सीजन जनरेटिंग प्लांट्स हैं। अब समय आ गया है जब हम पर्यावरण को सहेज कर रखें और जितना हो सकता है उतने पौधे लगाएं। साथ ही लोगों को भी जागरूक करें। पौधे तैयार करने के लिए मैं नारीयल के खाली शैल का इस्तेमाल करती हूं। साथ ही प्लास्टिक बोतल में भी पौधे तैयार करती हूं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

कश्मीर में आतंकी हमले में टीवी एक्ट्रेस की मौत, 10 साल के भतीजे पर भी हुई फायरिंगसुरक्षा एजेंसियों ने यासीन मलिक की सजा के बाद जारी किया आतंकी हमले का अलर्टIPL 2022, LSG vs RCB Eliminator Match Result: पाटीदार के दम पर जीता RCB, नॉकआउट मुकाबले में LSG को 14 रनों से हरायाटेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.