देखें मौत का LIVE वीडियो, मॉल की तीसरी मंजिल से ऐसे कूद गई ये महिला

बेटी से वॉशरूम से होकर आने की बात कहकर आई थी शॉप से बाहर और फिर लगा दी छलांग। 

By: दीपेश तिवारी

Published: 22 Aug 2017, 12:24 PM IST

भोपाल। डीबी मॉल की तीसरी मंजिल से कूदकर कपड़ा व्यापारी संजय मित्तल की पत्नी रेणुका ने सोमवार को खुदकुशी कर ली। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि वह फोन पर बात करते हुए बाहर निकली। फिर फोन काटा और नीचे छलांग लगा दी। घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई। खुदकुशी की वजह अभी सामने नहीं आई है। वहीं परिजन ने पीएम कराने से इनकार कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पुलिस के मुताबिक 35 वर्षीय रेणु उर्फ रेणुका लखेरा पुरा कोतवाली थाना क्षेत्र में रहती थी। पति संजय कपड़ा व्यापारी है। रेणु के पिता प्रहलाद दास अग्रवाल चिरायु हॉस्पिटल में सीएमओ रह चुके हैं। रेणुका छह साल की बेटी अभि के साथ डीबी मॉल आई थी। सुरक्षा गार्डों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और उसे जेपी हॉस्पिटल फिर नर्मदा हॉस्पिटल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई।

वॉशरूम के लिए कह कर निकली और लगा दी छलांग :
डीबी मॉल में सुसाइड करने वाली रेणुका मित्तल की छह साल की बेटी अभि मॉल के तीसरी मंजिल पर स्थित अमीबा गेमजोन में गेम खेल रही थी। रेणुका अपनी बेटी से बोली कि वह वॉशरूम जा रही है। इसके बाद रेणुका गेमजोन से बाहर निकली और वह मोबाइल फोन पर किसी से बात करने लगी। वह रेलिंग के पास खड़ी होकर बात करती रही। बात करने के बाद मोबाइल फोन रखकर रेलिंग पर चढ़ी और छलांग लगा दी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

पति को सौंप दिया था मोबाइल फोन : पुलिस ने बताया कि रेणुका के इस आत्मघाती कदम की वजह क्या है, इसका खुलासा नहीं हुआ है। वह फोन पर किससे बात कर रही थी, यह जांच के बाद सामने ही आएगा।

अब तक की जांच में बताया गया है कि वह किसी महिला से बात कर रही थी। पुलिस ने मोबाइल की सीडीआर खंगालना शुरू कर दिया है। बताया गया है कि मृतका रेणुका ने दोपहर में एटीएम से कुछ रुपए भी निकाले थे। इधर, सूचना के बाद मॉल पहुंचे पति संजय मित्तल को डीबी मॉल स्टाफ ने मोबाइल फोन दे दिया था, जिसे पुलिस ने देर रात जब्त कर लिया है।

धो दिया फर्श :
घटना के बाद ग्राउंड फ्लोर पर खून ही खून फैल गया। मॉल के स्टाफ ने तत्काल पुलिस को सूचना देकर रेणुका को उपचार के लिए जेपी अस्पताल भेजा और खून को साफ कर दिया। हालांकि, देर शाम पुलिस और एफएसएल टीम विवेचना के लिए पहुंची। टीम ने खून के स्पॉट को जांच के लिए लिया है।

दोनों परिवारों ने साधी चुप्पी :
रेणुका को जेपी अस्पताल से नर्मदा अस्पताल रेफर किया गया था।

 

 रेणुका के मायके पक्ष के लोग नर्मदा हॉस्पिटल पहुंच गए थे। दोनों परिवार ने मीडिया से बात नहीं की। इसको देखकर लगता है कि दोनों परिवार की चुप्पी कुछ छिपा रही है। उन्होंने मृतका के ससुराल पक्ष पर भी कोई आरोप लगाने जैसी बात नहीं कही। पूर्व सीएमओ रहे पिता प्रहलाद दास और चचेरे भाई महेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि वह पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहते, लेकिन मामला खुदकुशी से जुड़ा होने के चलते पुलिस ने शव को पीएम के लिए हमीदिया अस्पताल भेज दिया था।

रेणुका मित्तल ने मॉल के तीसरे माले से छलांग लगाई है। वह फोन पर किससे बात कर रही थी। खुदकुशी क्यों की, यह जांच के बाद सामने आएगा। आम पब्लिक के चलते मॉल के स्टाफ ने खून के स्पॉट साफ कर दिए होंगे, लेकिन जांच के लिहाज से खून के स्पॉट पुलिस को मिल गए हैं।
- सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी साउथ

कोई हत्या जैसा बड़ा अपराध तो था नहीं। अगर सुसाइड से जुड़ा मामला था, तो स्टाफ ने उस स्पॉट को साफ क्यों किया। यह गलत है। स्पॉट को लेकर कोई भी मामला हो, तो उसे पुलिस के आने तक सुरक्षित रखना चाहिए। एफएसएल और पुलिस जांच के लिए स्पॉट सबसे महत्वपूर्ण होता है।
- सलीम खान, रिटायर्ड सीएसपी, जहांगीराबाद संभाग

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned