दानिश नगर की खस्ता हाल सड़कों को लेकर ज्ञापन देने पहुंची महिलाएं, एडीएम ने मिलने से ही मना कर दिया

ज्ञापन चस्पा करने के लिए गोंद नहीं मिला तो महिलाओं ने अपने सुहाग की निशानी बिंदियों से चस्पा करने का प्रयास किया

भोपाल. होशंगाबाद रोड की तीस साल पुरानी दानिश नगर कॉलोनी को नगर निगम में हस्तांतरण कराने और कॉलोनी की सड़कों की खस्ताहाल स्थिति को ठीक कराने के लिए महिलाएं काफी प्रयास कर रही हैं, लेकिन सड़कों का काम शुरू नहीं हो पा रहा। इस संबंध में दानिश नगर गृह निर्माण समिति की तरफ से अंशु गुप्ता, गीता कालबेले, रुपा दाइमा, कंचन अग्निहोत्री, शांति तलवार, निर्मला उपाध्याय, राजश्री शर्मा सहित पच्चीस महिलाएं कलेक्टर अविनाश लवानिया से मिलने पहुंची। लेकिन व्यस्ततता के चलते वे ज्ञापन लेने नहीं आ सके। उन्होंने फोन पर एडीएम माया अवस्थी को ज्ञापन देने का कहा। अंशु गुप्ता ने बताया कि उन्होंने बाहर बैठक प्यून से कहा कि एडीएम मैडम से मिलना है। उन्होंने कारण पूछा तो मिलने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि वे किसी दूसरे अफसर से मिल लें, ये काम उनका नहीं है। इसके बाद महिलाएं एडीएम कक्ष के सामने ही एंट्री गेट पर ज्ञापन चस्पा कर आईं।

दरअसल कुछ दिन पूर्व महिलाओं ने सड़कों की दुर्दशा को लेकर कीचड़ में रैंम्प वॉक भी किया था। इसके बाद भी उनकी मांग पूरी नहीं हुई। अंशु गुप्ता ने बताया कि कॉलोनी को बने 30 साल हो गए हैं। रहवासियों ने सभी अनुमतियों के साथ विकास शुल्क का भुगतान भी कर चुके हैं। नगर निगम ने विकास गारंटी की धरोहर राशि भी प्राप्त कर ली है। सम्पत्ति कर, जलकर, समेकित कर, प्रकाश कर सहित कई प्रकार के कर जनता से लिए जा रहे हैं। लेकिन सड़कों की दुर्दशा ठीक नहीं हो रही। उन्होंने अपील की है कि कॉलोनी को जल्द से जल्द नगर निगम में हस्तांतरण किया जाए।

ज्ञापन चस्पा करने के लिए गोंद नहीं मिला तो महिलाओं ने अपने सुहाग की निशानी बिंदियों से चस्पा करने का प्रयास किया.एंट्री गेट पर ही ज्ञापन चस्पा कर आईं महिलाएं ज्ञापन, कलेक्टर ने व्यस्तता के चलते एडीएम से मिलने को कहा था

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned