आप भी है वर्किंग वुमन तो ये 6 टिप्स आपके काम को बना देंगे आसान!

बच्चों की परवरिश का काम अधिक चुनौतीपूर्ण...

भोपाल। आज के दौर में घर में पति व पत्नी दोनों का जॉब करना कोई खास बात नहीं है। लेकिन ऐेसे में बच्चों की परवरिश एक बड़ा मुद्दा बन जाती है। क्योंकि इस स्थिति में महिला के जिम्मे केवल आॅफिस ही नहीं बल्कि घर की पूरी जिम्मेदारी भी होती है।

वर्किंग वुमन और उनकी समस्याओं की जानकार सारिका व्यास कहती हैं कि आजकल अधिकतर महिलाएं घर और ऑफिस दोनों मोर्चों पर अपनी भूमिका को अंजाम देती है।

उनके कंधों पर अधिक जिम्मेदारी होती है। ऐसे में वर्किंग वुमन के लिए अपने बच्चों की परवरिश अधिक चुनौतीपूर्ण होता है। इस मामले में कुछ बातों का ध्यान रखकर वर्किंग वुमन अच्छे तरीके से अपने बच्चों की परवरिश कर सकती है।

1. जरूरी है प्लानिंग...
वर्किंग वुमन के लिए जरूरी है कि वह प्लानिंग से अपने हर काम को अंजाम दें। वर्किंग वुमन एक रूटीन तैयार करें कि उसे किस समय कौन सा काम निपटाना है। इससे वह अपने हर काम को आराम से अंजाम दे पाएगी।

जब भी ऑफिस टाइम से अलग बच्चे के साथ हों तो मोबाइल को खुद से दूर रखें। बच्चे को अधिक समय दें। वर्किंग वुमन अच्छे तरीके से टाइम मैनेजमेंट करके अपने काम को आसान बना सकती है और साथ ही दोनों मोर्चों पर सफल हो सकती है।

 

2. सब कुछ रखें व्यवस्थित...
चाहें ऑफिस हो या घर, व्यवस्थित वस्तुएं काम को आसान बना देती हैें। दूसरी तरफ बिखरी चीजें काम को मुश्किल बना देती है। छोटी-छोटी चीजों के अलग-अलग बॉक्स बना दें ताकि आपको हर चीज जल्दी से मिल जाएं।

अपने बच्चे की जरूरत का सामान एक जगह पर रखें। बाकी के सामानों के भी बॉक्स तैयार कर लें। बच्चे का सारा सामान एक अलग अलमारी या बॉक्स में रखें ताकि आपका समय बच सके।

अपने जरूरी सामान की लिस्ट बना लें और उसकी जगह फिक्स कर दें। घर की तरह ही ऑफिस के काम को भी व्यवस्थित रखें।

 

 

3. तय करें अपनी प्राथमिकता
कामकाजी महिला के लिए जरूरी है कि वे अपनी प्राथमिकता तय करें। ये तय करें कि ऑफिस के बाद का समय वह अपने बच्चे को किस तरह और कितना दे सकती हैं। किन चीजों से समझौता कर सकती हैं।

एक मां के लिए पहली प्राथमिकता उसका बच्चा ही होता है। ऐसे में आप ये निर्णय करें कि आपके बच्चे को किन-किन चीजों की सबसे ज्यादा जरूरत है और आप उसके ध्यान रखने और ऑफिस की जिम्मेदारियों में कितना समझौता कर सकती हैं। उसके साथ अधिक समय गुजारने की कोशिश करें।

4. ऐसे चयन करें ऑफिस
वर्किंग वुमन के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण होता है कि उसकी कंपनी और उसकी जिम्मेदारी किस तरह की है। अगर आपका बच्चा छोटा है और उसे समय देना चाहती हैं, तो ये जरूरी है कि आप ऐसी कंपनी का चयन करें जहां काम के घंटे कम हों और और ऑफिस का टाइमिंग फ्लैक्सिबल हो।

 

5. पूरा समय बच्चों को...
माना आप वर्किंग है, लेकिन छुट्टी वाले दिन तो आप बच्चे के साथ पूरा समय गुजारें। वीकेंड बच्चे के साथ बिताने के लिए जरूरी है कि आप वीकेंड पर पूरी तरह से खाली रहें। आपको सभी काम पहले निपटाने होंगे। आपकी प्लानिंग इस तरह की हो कि छुट्टी का दिन पूरी तरह बच्चे को समर्पित हो।

6. जीवनसाथी की मदद लें...
आपका बच्चा अधिक छोटा है तो अपने जीवनसाथी से मदद लेनी चाहिए। उनकी मदद आपकी इस जिम्मेदारी को आसान बनाएगी। बच्चे का ध्यान रखने के लिए आप आया की भी मदद ले सकती हैं। लेकिन आया रखने पर भी आपके लिए जरूरी है कि आप बच्चे से जुड़े हर पहलू का पूरा-पूरा ध्यान रखें।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned