scriptearth day | world earth day: शहर के युवाओं का अनूठा प्रयास, धरती के प्रति अपने फर्ज को निभा रहे | Patrika News

world earth day: शहर के युवाओं का अनूठा प्रयास, धरती के प्रति अपने फर्ज को निभा रहे

world earth day: कोई सिंगल यूज प्लास्टिक छोड़ने के लिए लोगों को मना रहा है तो कोई स्टार्टअप के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है

 

भोपाल

Updated: April 22, 2022 12:34:34 am

भोपाल। क्लाइमेट चेंज को लेकर हम सभी बातें तो करते हैं, लेकिन अपने जीवन में बदलाव लाकर प्रकृति-पर्यावरण को बचाने के लिए आगे नहीं आते। शहर में कुछ युवा ऐसे भी हैं जिन्होंने पृथ्वी को सुरक्षित रखने के लिए अपने स्तर पर मुहिम चला रखी है। कोई सिंगल यूज प्लास्टिक छोड़ के लिए लोगों को मना रहा है तो कोई स्टार्टअप के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है। विश्व पृथ्वी दिवस(world earth day) के मौके पर शहर के ऐसे लोगों से बात की, जो प्रकृति में सुधार लाने के लिए अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं।

jt_samta.jpg

सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रति जागरूक करने शुरू की मुहिम
समता अग्रवाल ने बताया कि मैं पेशे से टीचर हूं। पर्यावरण को सिंगल यूज प्लास्टिक से सबसे ज्यादा नुकसान होता है। मैंने करीब आठ साल पहले लोगों को सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रति जागरूक करने के लिए मुहिम शुरू की थी। हम बाजार दर बाजार दुकानदार और ग्राहकों को जागरूक करते थे। फिर मुझे लगा कि हम सारे शहर में एक साथ काम नहीं कर सकते। इसके बाद 10 नंबर मार्केट और बिट्टन मार्केट हाट बाजार में आने वाले लोगों को जागरूक करना शुरू किया। कई बार लोग नाराज हो जाते हैं। वे कहते हैं हमारा समय क्यों वेस्ट कर रही हैं, इनका उत्पादन बंद कराइये। हम उन्हें समझाते हैं कि धरती के प्रति हमारी भी कोई जिम्मेदारी है। हम अपने स्तर पर तो फर्ज निभा ही सकते हैं। कई बार दुकानदार भी हमसे झगड़ा करने लगते हैं, लेकिन हम उनकी बातों का बुरा नहीं मानते और अपनी मुहिम शांति के साथ जारी रखते हैं। हम हफ्ते में पांच दिन बिट्टन मार्केट हाट बाजार में शाम के समय जाकर खड़े हो जाते हैं और वहां आने वाले लोगों को समझाते हैं। हमारा मकसद है कि यदि हम एक मार्केट को भी प्लास्टिक फ्री कर पाएं तो हमारा परिश्रम सार्थक हो जाएगा।

manoj.jpg

शहर में 7 हजार पौधे रोपे, ग्रुप से 100 लोग जुड़ गए
प्रो. मनोज गौड़ का कहना है कि मैं और पत्नी मॉर्निंग वॉक के लिए मनुआभान टेकरी पर जाते थे। दूर से देखने पर ये क्षेत्र बहुत हरा-भरा दिखता है, लेकिन अंदर की तरफ पेड़ काफी कम हैं। नगर निगम, सीपीए और वन विभाग यहां काम तो करती हैं, लेकिन उस स्तर पर काम नहीं हो पा रहा। हमने यहां पौधे लगाना शुरू किया। शुरुआत में 100 पेड़ लगाए। जमीन पथरीली होने से यहां गड्ढे खोदना ही बड़ा मुश्किल काम था। यहां पानी पहुंचाना भी आसान नहीं था। एक डॉक्टर दंपत्ति ने यहां पानी का टैंक रखवाया। धीरे-धीरे ग्रीन भोपाल अभियान से लोग जुड़ते गए। अब ग्रुप के 100 लोग 7 हजार पौधे लगा चुके हैं। कई स्थानों पर मटके में छेदकर लटका देते हैं। जिस क्षेत्र में पौधे लगाए जाते हैं, आस-पास के लोगों को भी जोड़ लेते हैं।

jt_piyush.jpgस्टार्टअप के जरिए पेड़ बचाने का प्रयास
वहीं, पीयूष कनकने ने बताया कि लोग महंगे इंविटेशन कार्ड छपवाते हैं, इन्हें पढ़ने के बाद हर कोई फेंक देता है। इससे कहीं ना कहीं पर्यावरण को ही नुकसान पहुंचता है। मैंने अपने घर और आसपास लोगों को ऐसे करते देखा तो सोचा क्यों ना कुछ ऐसा किया जाए जिससे पेड़ भी बचें और लोगों को संदेश भी पहुंच जाए। हमने द अर्बन ग्रीन नाम से एक स्टार्टअप शुरू किया। एक पौधे के साथ इको फ्रेंडली कार्ड तैयार किए। सीड से बने इस कार्ड को लोग पढ़कर मिट्टी में डाल पौधा उगा सकते हैं। वहीं, पौधा हमेशा ये याद दिलाता है कि आपको किसी ने ये गिफ्ट किया है। इंडोर प्लांट हवा साफ करने के साथ ही ऑक्सीजन भी जनरेट करते हैं। हमारी इस पहल से अब कई लोग जुड़ने लगे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'SSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़पसचिन दिल्ली से जयपुर की फ्लाइट में बैठे और पहुंच गए अहमदाबाद, ऐसे हुआ गड़बड़झालाअमित शाह और IAS पूजा सिंहल की फोटो शेयर करने वाले फिल्ममेकर को कोर्ट से नहीं मिली राहतविधानसभा में बहस, Yogi ने अखिलेश को दिया जवाब '...लड़के हैं गलती हो जाती है'अखिलेश ने तय किया राज्यसभा के उम्मीदवारों का नाम, जल्द करेंगे नामांकनHoney Trap: पाकिस्तानी सेना का लव जेहाद, भारतीय जवानों के लिए बना फांस
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.