पीली बत्ती लगाकर क्यों चलता था ये गिरोह कारण जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

खुद को बताते थे बीडीए का कर्मचारी, कार से ले जाते थे फ्लैट और प्लॉट दिखाने के लिए...

By: anil chaudhary

Published: 26 Jan 2018, 09:02 AM IST

भोपाल. खुद को बीडीए का कर्मचारी बताकर कम कीमत में फ्लैट-प्लॉट दिलाने का झांसा देकर जालसाजी करने वाले गिरोह की करतूतों की परतें सिलसिलेवार खुल रही हैं। क्राइम ब्रांच के हाथ लगे आरोपी रूपेश सिरोड़े, अतुल श्रीवास्तव और रवि माहेश्वरी से पूछताछ में खुलासा हुआ कि वह बीडीए लिखी कार में पीली बत्ती लगाकर ग्राहक को फ्लैट-प्लॉट दिखाने ले जाते थे।

ग्राहक का भरोसा जीतने वह बीडीए कार्यालय में बुलाकर सौदा करते थे। गिरोह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाई नरेन्द्र चौहान को भी बागसेवनिया इलाके में करीब चार हजार वर्गफीट का दूसरे का प्लॉट दिखाकर ठगने का प्रयास किया था। गिरोह ने चौहान को तीन करोड़ रुपए कीमत का प्लॉट सवा करोड़ रुपए में देने का झांसा दिया था। हालांकि, चौहान ने प्लॉट लेने से इनकार कर दिया था।
मालूम हो कि पुलिस ने सोमवार को तीनों आरोपियों को धोखाधड़ी के आरोप में गिरप्तार कर रिमांड पर लिया था। तीनों आरोपियों ने बीडीए का अधिकारी बनकर सस्ते दाम पर प्लॉट, फ्लैट दिलाने के नाम पर कई लोगों से लाखों की ठगी की थी।

 

कई लोगों को दी फ्लैट की चाबी
गिरोह पैसा लेने के बाद बर्रई में नवनिर्मित बीडीए कॉलोनी के कई फ्लैट की चाबी भी लोगों को दे चुके हैं। गिरोह के शिकार हुए एसके शर्मा ने बताया कि उन्हें भी आरोपियों ने खुद को बीडीए का अधिकारी बताया था और पहचान के एक व्यक्तिको दूसरे की फ्लैट की चाबी भी दे दी थी।

चार चोरों से बरामद किए 32 मोबाइल
भोपाल. हनुमानगंज पुलिस ने बुधवार को एक मोबाइल चोर गिरोह के दो बदमाशों सहित, मोबाइल और लैपटॉप चुराने वाले दो अन्य बदमाशों को गिरफ्तार कर चोरी के कुल ३२ मोबाइल और एक लैपटॉप बरामद किया।

एसपी उत्तर हेंमत चौहान ने बताया कि घोड़ानक्कास क्षेत्र में चोरी का मोबाइल बेचने की फिराक में दो युवक घूम रहे दो युवकों को पकड़ा हैं। इनकी पहचान झारखंड निवासी कुंदन कुमार महतो (22) एवं पवन फकीर (23) के रूप में हुई। दोनों ने इलाके की अवि लॉज में ठहरने की बात बताई। रूम में सर्चिंग में बैग में से 20 मोबाइल बरामद हुए।
दो अन्य युवक गिरफ्तार: इसी इलाके में समांनतर रोड पर लैपटॉप व मोबाइल बेचने की फिराक में घूम रहे एक अन्य युवक को भी गिरफ्तार किया गया। उसकी पहचान कोटा निवासी हंसराज बेरबा (32) के रूप में हुई। पूछताछ में उसने बताया कि वह ट्रेनों में चोरी करता है। उसके पास से पास से एक लैपटाप एव दो महंगे मोबाइल बरामद किए गए। इसी तरह मोहम्मद शाहरूख (19) पिता मोहम्मद शफीक को गिरफ्तार कर उसके पास से 50 हजार रुपए कीमत के चोरी के दो मोबाइल बरामद किए गए।

 

anil chaudhary Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned