scriptyoung man was bitten by snake lost his life due to superstition | अंधविश्वास के चलते उखड़ गईं सांसें, सांप डंसने के 2 घंटे बाद तक कराते रहे झाड़ फूंक | Patrika News

अंधविश्वास के चलते उखड़ गईं सांसें, सांप डंसने के 2 घंटे बाद तक कराते रहे झाड़ फूंक

सांप के डंसने पर युवक को अस्पताल की जगह नागबाबा के पास ले गए परिजन..

भोपाल

Published: May 04, 2022 06:05:37 pm

भोपाल. भोपाल में अंधविश्वास के चलते एक युवक की सांसें उखड़ गईं। घटना गनियारी गांव की है जहां रहने वाले 25 साल के युवक को मंगलवार की शाम खेत पर करीब 5 सांप ने डंस लिया। लेकिन अंधविश्वास के चलते परिजन उसे अस्पताल न लाकर पास के ही गांव में रहने वाले किसी नागबाबा के पास ले गए। जहां करीब दो घंटे तक अंधविश्वास का खेल चलता रहा लेकिन जब तबीयत में सुधार नहीं हुआ और तबीयत बिगड़ी तो अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।

bhopal_snake_bite.jpg

अंधविश्वास के चलते उखड़ गईं सांसें
जानकारी की मुताबिक गनियारी गांव का रहने वाला युवक नारायण सिंह सेहरिया खेती किसानी करता था। मंगलवार की शाम उसे खेत पर सांप ने डंस लिया। वक्त रहते सही इलाज मिलने पर नारायण की जान बचाई जा सकती थी लेकिन परिजन उसे अस्पताल न ले जाकर पास के गांव के एक नागबाबा के पास ले गए। जहां करीब दो घंटे तक अंधविश्वास के चलते नारायण को हर्बल धूप सुंघाते रहे। बाबा फर्जी मंत्रों का जाप करता रहा था लेकिन तमाम प्रयासों के बाद भी नारायण की तबीयत में सुधार नहीं हुआ उल्टे तबीयत बिगड़ने लगी। इसके बाद परिजन नारायण को रात करीब 8 बजे भोपाल के नेशनल हॉस्पिटल लेकर पहुंचे जहां से उसे हमीदिया रेफर कर दिया गया । हमीदिया में रात करीब 10 बजे इलाज के दौरान नारायण की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नारायण की शादी साल 2016 में हुई थी और उसका एक दो साल का बेटा भी है।

यह भी पढ़ें

एक साथ उठी अर्थियां, डॉक्टर पति की मौत के 1 घंटे बाद पत्नी ने ब्रिज से कूदकर दी जान




अंधविश्वास के चलते पीएम कराने से इंकार
अंधविश्वास में जकड़े नारायण के परिजन बेटे की जान जाने के बाद भी उसका पोस्टमार्टम न कराने की बात कहते रहे। उनका कहना था कि नागबाबा उनके बेटे नारायण को फिर से जीवित कर देंगे इसलिए वो बेटे को उनके पास लेकर जाएंगे। हालांकि डॉक्टरों और पुलिस की काफी देर की समझाईश के बाद परिजन पोस्टमार्टम के लिए राजी हो गए। डॉक्टर्स का कहना है कि अगर वक्त रहते नारायण को अस्पताल लाया जाता तो उसकी जान बचाई जा सकती थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

पहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलअब चावल के निर्यात पर भी रोक लगा सकती है केंद्र सरकार, PMO की एक्सपर्ट कमेटी का सुझावहार्दिक पटेल पर बड़ा आरोप, विधानसभा चुनाव का एक टिकट देने के लिए ली 23 लाख रुपए की रिश्वतचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.