जोमाटो कर्मचारी के बगल से निकली गोली, पुलिस ने नहीं दर्ज किया FIR

जोमाटो कर्मचारी के बगल से निकली गोली, पुलिस ने नहीं दर्ज किया FIR

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Sep, 07 2018 02:15:15 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

जोमाटो कर्मचारी के बगल से निकली गोली, पुलिस ने नहीं दर्ज किया मामला

भोपाल. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बदमाशों का कहर बढ़ता जा रहा है। एमपी पुलिस के दावे खोखले साबित हो रहे। मामला बीते गुरुवार की देर रात करीब 2 बजे का है। जब जोमाटो के एक कर्मचारी पर कुछ बदमाशों ने हमला कर दिया। हमले में कर्मचारी के हाथ में चोट लगी है।

मामला गंभीर तब हो गया जब जोमाटो का कर्मचारी टीटी नगर थाना पुलिस में बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज करने पहुंचा तो टीटी नगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। जोमाटो कर्मचारी सलाम बीते रात करीब 2 बजे प्लाश होटल के सामने रॉबिन रॉय नाम के बदमाश ने बुलाकर हमला किया था और फरार हो गए। ज्यादा दूरी होने के कारण पीड़ित के बगल से गोली और सलाम के हाथ में चोट लग गयी।

अपराध का आंकड़ा 10 हजार के पार

राजधानी में 2016 के बाद 2018 में महज सात माह में अपराध का आंकड़ा 10 हजार के पार हो गया। महिला अपराध में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ है। वहीं, हत्या, हत्या के प्रयास के अपराधों में मामूली बढ़ोतरी हुई है। यह खुलासा भोपाल पुलिस की समीक्षा रिपोर्ट में हुआ है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 में जनवरी से जुलाई के बीच 10,519 अपराध घटित हुए थे, जबकि 2018 में इस अवधि के बीच 10,050 अपराध हुए। इससे पहले 2017 में 9457 अपराध घटित हुए थे। 2018 के अपराधों में करीब 97 अपराधी फरार हैं। जबकि 2016 के मुकाबले पुलिस बल में वृद्धि हुई है। बावजूद पुलिस अपराध पर लगाम नहीं लगा सकी।

पूरे शहर में 45 हत्या, 74 लूट की वारदात हुईं
2018 में जनवरी से जुलाई के बीच हत्या के 45 केस दर्ज हुए। वहीं लूट की 74 वारदात हुईं। जबकि 186 दुष्कर्म के केस दर्ज हुए। 2017 में जनवरी से जुलाई के बीच दुष्कर्म के 180 मामले दर्ज हुए थे। वहीं 2018 के पूर्व हत्या के 18 मामले पेंडिंग हैं।

506 में 256 के चालान हुए पेश
2018 में जनवरी से जुलाई के बीच दर्ज हुए 506 गंभीर अपराधों में 256 के चालान ही पुलिस पेश
कर सकी है। 50 फीसदी अपराधों का चालान अब भी पेश नहीं हो सका है। इसकी बड़ी वजह पुलिसकर्मियों की अपराधों की विवेचना से उलट अलग-अलग जगह ड्यूटी लगाना है।

Ad Block is Banned