चक्रवात पाबुक की संभावना के चलते ओडिशा में अलर्ट

बता दें कि अक्टूबर माह मेें चक्रवात तितली ने राज्य में भयंकर तबाही मचाई थी...

By: Prateek

Published: 03 Jan 2019, 10:06 PM IST

(भुवनेश्वर): चक्रवात तितली के कारण हुए नुकसान से उभरे ओडिशा पर फिर से चक्रवात का खतरा मंडराने लगा है। दक्षिण चीन में चक्रवाती तूफान से उत्पन्न खतरे को देखते हुए ओडिशा के तटीय जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। विशेष राहत आयुक्त विष्णु सेठी ने बताया कि बालासोर, भद्रक, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, पुरी, गंजाम और खोरदा में अलर्ट जारी किया गया है। जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे अप्रत्याशित आपदा से चाकचौबंद रहें।


मौसम विभाग द्वारा जारी सूचना के अनुसार चक्रवाती तूफान पाबुक का असर तीन जनवरी को साढ़े आठ बजे महसूस किया गया। पोर्टब्लेयर से उठे तूफान के पांच जनवरी को अंडमान पहुंचने की आशंका है। म्यांमार से होते हुए 7 या 8 जनवरी तक राज्य के तटवर्ती क्षेत्र में इसका ज्यादा असर देखा जा सकता है।


बता दें कि अक्टूबर माह मेें चक्रवात तितली ने राज्य में भयंकर तबाही मचाई थी। इस चक्रवात के कारण हजारों घर उजड़ गए थे। तितली ने 65 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया था। तितली का असर समाप्त होने के कुछ दिनों के बाद ही चक्रवात गाजा के डर से भी राज्य में अलर्ट जारी किया गया था। गनिमत रही कि दुनिया के और हिस्सों में कहर ढाने वाले गाजा तूफान का ज्यादा असर ओडिशा में देखने को नहीं मिला। जिससे बड़ा खतरा टल गया।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned