बीजेडी सांसद प्रमिला ने रक्षामंत्री को लिखा, ओडिशा के फ्लाइट लेफ्टीनेंट को वापस लाओ, लापता एनएन-32 विमान में थे सवार

बीजेडी सांसद प्रमिला ने रक्षामंत्री को लिखा, ओडिशा के फ्लाइट लेफ्टीनेंट को वापस लाओ, लापता एनएन-32 विमान में थे सवार

Prateek Saini | Publish: Jun, 10 2019 04:30:22 PM (IST) Bhubaneswar, Khordha, Odisha, India

फ्लाइट लेफ्टीनेंट सुनीत महंति के चाचा बल्लभ महंति कहते हैं कि उनके गांव में एएन 32 पर अपडेट के लिए रोज अखबार देखे जा रहे हैं...

(भुवनेश्वर): भारतीय वायुसेना का एएन—32 विमान अभी तक लापता है। विमान को खोजने के लिए सर्च अभियान जोरो से चल रहा है। इसके बावजूद विमान का कोई नामो-निशान नजर नहीं आ पा रहा है। विमान के क्रू सदस्यों में ओडिशा के फ्लाइट लेफ्टीनेंट सुनीत महंति भी हैं। महंति को वापस लाने के लिए आसका संसदीय सीट से बीजेडी की सांसद प्रमिला बिसोई ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखा है। महंति गंजाम जिले के रहने वाले हैं। सांसद बिसोई ने पत्र में लिखा है कि सुनीत महंति उनके संसदीय क्षेत्र के बलियापाली गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने सर्च ऑपरेशन में आधुनिकतम संयंत्रों का प्रयोग करके लापता विमान को जल्द से जल्द तलाशने की मांग की।

suneet mahanti

उधर आईएएफ ने लापता विमान का पता देने वाले पांच लाख रुपया देने की घोषणा भी कर दी है। उधर लेफ्टीनेंट महंति के पिता रिटायर्ड ग्रुप कैप्टन सुरेंद्रनाथ महंति ने चीफ ऑफ एयर स्टाफ से मांग की है कि एएन 32 विमान को फेजआउट कर दिया जाए। सुरेंद्र नाथ महंति 33 भी साल तक वायु सेना की सेवा में रहे हैं। एएन 32 को उन्होंने 6 साल तक उड़ाया। उनका कहना है कि 40 साल पुराना विमान आज के युग में नहीं प्रयोग किया जाना चाहिए। वह कहते हैं कि हर समय भाग्य साथ नहीं देता। उन्होंने बताया कि वह चीफ ऑफ एयरस्टाफ से मिले और उनसे कहा कि एएन 32 को विदा करने का वक्त आ गया है। महंति परिवार दिल्ली में रह रहा है। फ्लाइट लेफ्टीनेंट सुनीत महंति के चाचा बल्लभ महंति कहते हैं कि उनके गांव में एएन 32 पर अपडेट के लिए रोज खबर कागज (अखबार) देखे जा रहे हैं।


एएन 32 विमान के तीन जून को असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरने के बाद अरुणाचल की मेनचुका एयरफील्ड के निकट से उसका संपर्क टूट गया। इसमें क्रू मेम्बर समेत 13 लोग थे। विमान को तलाशने के लिए नई से नई तकनीक का प्रयोग कर हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। बताते हैं कि तीन साल पहले एक एएन 32 विमान 22 जुलाई 2016 को लापता हो गया था। इसमें 29 लोग सवार थे। यह चेन्नइ से पोर्टब्लेयर की ओर जा रहा था। बंगाल की खाड़ी से इसका संपर्क टूट गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned