घर से एक के बाद एक निकले कोबरा सांप, तादाद देख चौंक गए लोग

घर से एक के बाद एक निकले कोबरा सांप, तादाद देख चौंक गए लोग
kobra

| Publish: Jun, 25 2018 02:22:51 PM (IST) Bhubaneswar, Odisha, India

ओडिशा के धामनगर थाना क्षेत्र के श्यामसुंदरपुर गांव के रहने वाले विजय भुयान के घर पर कोबरा सांप मिलने का सिलसिला जारी है

(महेश शर्मा की रिपोर्ट)
भुवनेश्वर/भद्रक। ओडिशा के धामनगर थाना क्षेत्र के श्यामसुंदरपुर गांव के रहने वाले विजय भुयान के घर पर कोबरा सांप मिलने का सिलसिला जारी है। वन विभाग की देखरेख में स्नेक हेल्प लाइन का कोबरा सर्च आपरेशन सोमवार को भारी बारिश के कारण रोक दिया गया है। अब तक 126 कोबरा निकाले जा चुके हैं। भुयान के साथ उसकी पत्नी और दो बच्चे भी रहते हैं। भुयान को पता था कि उसके घर में सांप हैं। लेकिन इनकी तादाद इतनी होगी यह सोचा भी नहीं था। कोबरा के बच्चों को क्योझर के हदगढ़ा वन क्षेत्र में छोड़ा गया है।

 

पांच नर और मादा कोबरा मिले


पांच कोबरा रविवार को मिले थे। जिनमें एक नर और एक मादा कोबरा भी शामिल है। ये आकार में बड़े थे। स्नेक हेल्प लाइन ने घर को सील कर दिया है। अंडों से निकले छोटे-छोटे कोबरा को देखने के लिए भीड़ लग गई। एक मादा कोबरा 20 से 25 अंडे देती हैं। स्नेक हेल्प लाइन के अनुसार यहां पर कम से कम दस नर और मादा कोबरा होने की संभावना है। पहले दिन 111 कोबरा के बच्चे मिले थे जिन्हें देखकर घर वालों के होश फाख्ता हो गए। घर के मुखिया विजय भुयान ने स्नेक हेल्पलाइन को फोन करके बुलाया था। वन अधिकारी अमलान नायक कहते हैं कि ऐसा दृश्य उसने कभी नहीं देखा। वहां पर अंडों के खोल पड़े थे जिनकी संख्या 26 थी। आपरेशन पूरा होने तक भीतरी हिस्से में कोई भी जाने को तैयार नहीं है। उनका कहना है कि वन विभाग के सामने इन्हें खोजना एक बड़ी चुनौती है। हालांकि वन विभाग की टीम कोबरा तलाशने में पूरी मुस्तैदी से जुटी है लेकिन भारी संख्या में कोबरा पाए जाने की दहशत है। लोग आपरेशन पूरा होने तक घरों के भीतरी हिस्सों में जाने को तैयार नहीं हैं।

 

संपन्नता का प्रतीक मानते हैं कोबरा को


भुयान किसान हैं। उनके घर में छह कमरे हैं। उनके एक कमरे में टरमाइट हिल यानी दीमक पहाड़ी है जिसे बोलचाल में बांबी भी कहा जाता है। भुयान यहां पर पूजा करके रोज दूध चढ़ाता था। उसका कहना है कि घर में पहले भी सांप देखे गए पर उनसे कभी छेड़छाड़ नहीं की। वह सांपों (कोबरा) का घर में होना संपन्नता का प्रतीक मानता है। घर में कितने सांप देखे गए यह भुयान और उसके परिवार को भी नहीं पता। हुआ यूं कि घर में सांप के बच्चे रेंगते हुए देखे गए तो भुयान सांप पकडऩे वाले मिर्जा शेख को बुला लाया। जब मिर्जा ने उन्हें पकडऩे के लिए खुदाई करवाई तो वह भी हैरान रह गया। वहां पर ढेर सारे सांप के बच्चे दिखे। क्रेट प्रजाति के जहरीले सांप का जोड़ा देखकर मिर्जा चौंक गया और उन्हें निकालने से इंकार कर दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned