ओड़िशा में आफत बनी बारिश,नदियां बह रही खतरे के निशान से ऊपर,जलमग्न हुए मंदिर

महानदी समेत 11 नदियों का पानी गांवों व सड़कों पर से गुजर रहा है...

By: Prateek

Published: 23 Jul 2018, 04:14 PM IST

(पत्रिका ब्यूरो,भुवनेश्वर): ओडिशा की नदियां उफान पर हैं। ओडिशा और छत्तीसगढ़ के बांधों से पानी छोड़े जाने तथा ऊपर से लगातार हो रही बारिश के कारण राज्य की 11 नदियों में बहुत तेजी से पानी बढ़ रहा है। तटवर्ती गांव व शहरों में बाढ़ विभीषका का भय व्याप्त है।

 

बांधों से छोड़ा जा रहा पानी

महानदी समेत 11 नदियों का पानी गांवों व सड़कों पर से गुजर रहा है। नराज और मुंडुली बांध के समस्त गेट खोल दिए गए हैं। यहां से आठ लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। हीराकुद बांध से भी सोमवार को पानी छोड़ा गया। हीराकुद के कुछ गेट मंगलवार को खोल दिए जाएंगे। कटक के मुंडुली बांध से 6.84 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया जबकि नराज बांध 3.44 लाख क्यूसेक। महानदी की सहायक नदियों में बाढ़ आ चुकी है। बाढ़ं नियंत्रण प्रमुख की रिपोर्ट के अनुसार 7.11 लाख क्यूसेक पानी मुंडली में है।


विशेष राहत आयुक्त विष्णुपद सेठी ने महानदी समेत राज्य की 11 नदियों में बाढ़ की आशंका के मद्देनजर अलर्ट जारी किया है। छतीसगढ़ के कलमा बांध के अधिकतर गेट खोले जाने की खबर है। उधर हीराकुड बांध में भारी मात्रा में पानी जमा हो गया है। वहां से पानी छोड़ा जा रहा है। कटक में मूँदली बांध से रविवार को पानी छोड़ दिया गया। छह जिलों में बाढ़ का पानी घुस चुका है। जाजपुर, केंद्रपाड़ा, खोरदा, कटक, पुरी व जगतसिंहपुर जिले में बाढ़ अलर्ट का नोटिसा जारी किया गया।


खतरे के निशान से उपर बह रही यह नदियां

उनका कहना है कि बाढ़ से हालात उतपन्न हो गए हैं। सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट रहने तथा आपदा प्रबंधन समिति से भी सक्रिय रहने को कहा गया है। गांव के गांव जलमग्न हो रहे हैं। वैतरणी नदी ने खतरे का निशान छू लिया है। अखुपाड़ा, भंडारी, पोखरी व धमंगा ब्लाक के कई हिस्सों में पानी भर चुका है। जलसंसाधन विभाग के अनुसार महानदी खैरमाला में खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। कुशभद्रा नदी, देवी नदी, तालचर में ब्राह्मणी नदी, जाजपुर में वैतरणी नदी, सुवर्णखा नदी बालासोर, बूढ़ा बड़ंग नदी बारीपदा में, वंशधारा, ऋषिकुल्या, शालंबी और इंद्रावती नदी भी खतरे के निशान के आसपास बह रही है। इन नदियों के आसपास रहने वाले भयभीत हैं।

 

देवी मंदिर जलमग्न

कटक जिले नरसिंहपुर में मां भट्टिरिका देवी का मंदिर जलमग्न है। मंदिर के आसपास इलाके में जबर्दस्त पानी भर गया है। मंदिर मे देवी पूजन की परंपराएं नहीं हो सका।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned