मिश्रा दंपती का रिकार्ड गिनीज बुक में दर्ज, 42 दिन में 29 हजार किलोमीटर की यात्रा की

मिश्रा दंपती का रिकार्ड गिनीज बुक में दर्ज, 42 दिन में 29 हजार किलोमीटर की यात्रा की
mishra couple

| Publish: Aug, 09 2018 05:15:48 PM (IST) Bhubaneswar, Odisha, India

दुर्गाचरण मिश्रा और उनकी पत्नी ज्योत्सना मिश्रा ने 42 दिन में 29 हजार किलोमीटर ट्रेन व बस से भारत भ्रमण किया।

(महेश शर्मा की रिपोर्ट)
भुवनेश्वर। ओडिशा के पुरी जिले के निवासी मिश्रा दंपती ने एक देश में बस और ट्रेन से 29 हजार किलोमीटर की लगातार यात्रा करने का वर्ल्ड रिकार्ड स्थापित किया है। इनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो गया। यह शानदार उपलब्धि उन्होंने कड़ी मेहनत, लगन और जज्बे से हासिल की है।

 

 

42 दिन किया भ्रमण

 

 

एसोसिएशन ऑफ स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग से सेवानिवृत दुर्गाचरण मिश्रा और उनकी पत्नी ज्योत्सना मिश्रा ने 42 दिन में 29 हजार किलोमीटर ट्रेन व बस से भारत भ्रमण किया। गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड ने मिश्रा दंपति को प्रमाण पत्र जून के प्रथम सप्ताह में सौंपा। इस दंपति ने रोम के एक दंपति (9,261 किमी.) का रिकार्ड तोड़कर यह उपलब्धि अपने नाम हासिल की।

 

 

गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड ने छानबीन के बाद दी मंजूरी

 

 

दुर्गाचरण मिश्रा का कहना है कि उन्होंने गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड में नाम शामिल कराने के लिए आवेदन किया था। अधिकारियों ने छानबीन करने के बाद नाम को मंजूरी दी। इससे पहले दोनों ने कार से 18,458 किलोमीटर एक ही देश में यात्रा करके गिनीज रिकार्ड 2014 में बनाया था। उन्होंने 2013 में बुलेट मोटर साइकिल में 21,146 किलोमीटर की दूरी तय करके यूनिक रिकार्ड बनाया था।

 

 

 

यात्रा के दौरान रेलवे प्लेटफार्म पर रुकते थे दंपती

 

 

 

साल भर पहले बस व ट्रेन से लंबी दूरी तय करने की योजना दंपती ने बनायी। गिनीज रिकार्ड की कमेटी ने इसके लिए कुछ गाइड लाइंस बनाई। इसमें दोनों के लिए सरकारी वाहनों के उपयोग की बात कही गई थी। प्राइवेट टैक्सी, बस टूरिस्ट बसें गाडिय़ां तथा दूरंतो और राजधानी एक्सप्रेस में यात्रा वर्जित की गई थी। 18 फरवरी को उनकी यात्रा पुरी से सुबह 9.25 बजे सुबह शुरू हुई। दंपती उत्तर पूर्व के राज्यों समेत यात्रा पूरी करते हुए 30 मार्च को 8.18 बजे रात को पुरी पहुंचे। वे यात्रा के दौरान रेलवे प्लेटफार्म पर रुकते थे। गिनीज रिकार्ड वाले दो सदस्य जीपीआरएस के माध्यम से उन पर नजर रखे हुए थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned