मोदी से मिले पटनायक, चक्रवात फानी से हुए नुकसान की भरपायी को आर्थिक सहायता मांगी, इन मुद्यों पर भी हुई चर्चा

मोदी से मिले पटनायक, चक्रवात फानी से हुए नुकसान की भरपायी को आर्थिक सहायता मांगी, इन मुद्यों पर भी हुई चर्चा

Prateek Saini | Publish: Jun, 11 2019 03:44:24 PM (IST) Bhubaneswar, Khordha, Odisha, India

तूफान से उजड़े लोगों के लिए पांच लाख पक्के घर मांगे, इसके साथ ही...

 

(भुवनेश्वर): ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने ओडिशा को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग उठायी। उन्होंने फानी चक्रवात से हुए भारी नुकसान के लिए आर्थिक सहायता की भी मांग की। उन्होंने नुकसान के आंकलन की रिपोर्ट में मोदी को सौंपी। वह राष्ट्रपति से भी मिले। पांचवीं बार मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद पटनायक पहली बार मोदी से मिले। पटनायक का पांचवा और मोदी का दूसरा कार्यकाल है।


प्रधानमंत्री से भेंट के बाद नवीन ने कहा कि लोकसभा चुनाव में जीत को लेकर उन्हें (मोदी) बधाई दी थी। फानी से हुए नुकसान और ओडिशा में अक्सर आने वाली चक्रवाती तूफान से नुकसान के मद्देनजर विशेष राज्य का दर्जा दिया जाना चाहिए। चक्रवाती तूफान के झटकों से ओडिशा को क्षतिपूर्ति में विशेष राज्य का दर्जा सहायक हो सकता है। इसमें आर्थिक मदद अपेक्षाकृत ज्यादा राज्य को ज्यादा मिलेगी।


पटनायक ने मोदी को 11,942 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान वाली रिपोर्ट दी है। पटनायक ने कहा कि वह प्रधानमंत्री से मिले और फानी से उजड़े ओडिशा में राहत पुनर्वासन के लिए पांच हजार करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता की मांग की है। इसके अलावा फानी से उजड़े परिवारों को देने के लिए पांच लाख पक्का घर की मांग की। यह तूफान तीन मई को पुरी समुद्रतट से टकराया था।


बता दें कि केंद्र सरकार गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव विवेक भारद्वाज के नेतृत्व में केंद्रीय दल आंकलन के लिए भेजा था। टीम ने तूफान प्रभावित क्षेत्र पुरी, खोरदा, कटक का दौरा किया था। मोदी को सौंपी रिपोर्ट में कहा गया है कि 11,942 करोड़ की रिपोर्ट में सार्वजनिक संपत्ति को क्षति और राहत अभियानों में व्यय हो रही रकम का अनुमान है।


उन्होंने राज्य को कोयले में मिलने वाली रॉयल्टी बढ़ाने की भी मांग रखी। नवीन ने प्रधानमंत्री से 20 मिनट तक बातचीत की। लोकसभा डिप्टी स्पीकर की सीट बीजेडी को दिए जाने और आय़ुष्मान भारत ओडिशा में लागू किए जाने के सवाल पर नवीन का कहना था कि इस पर कोई बातचीत नहीं हुई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned