ओडिशा में नाव डूबने से नौ लोगों की मौत

हृदयविदारक घटना को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपया मुआवजा देने के आदेश दिए...

By: Prateek

Published: 03 Jan 2019, 03:17 PM IST

(केंद्रपाड़ा,भुवनेश्वर): महानदी में नाव डूबने से 9 लोगों की मौत हो गई। यह घटना बुधवार रात की है। देर रात एक शव निकाला गया। बाद में गोताखोरों ने 8 शव और निकाले। ये सभी नये साल पर भितरकनिका के हुकितोला लाइट हाउस वन क्षेत्र में पिकनिक को जा रहे थे। इस हृदयविदारक घटना को लेकर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपया मुआवजा देने के आदेश दिए। यह घटना केंद्रपाड़ा के महाकालपदा ब्लाक के निपनिया के पास हुई थी।

 

मृतकों के नाम इस प्रकार हैं। प्रवाती स्वैं, इशान दलेई, सुश्री पल्लवी स्वैं, अनु तरई, साई तरई, देवाशीष साहू, देवस्मिता पानी, रोजलीन साहू, व धनु साहू। शुभाश्री साहू की तलाश जारी है। ये सभी बगल के जिले जगतसिंहपुर के हसिना रतनपुर गांव के रहने वाले थे। पूरे गांव घटना से स्तब्ध है। कल रात तक एक ही शव मिला था। आठ लोगों का अतापता नहीं चल रहा था। पुलिस ने बताया कि देर रात तक आठ शव मिल चुके हैं। एक की तलाश गोताखोर कर रहे हैं। प्रवाती स्वैं का मिला था। बचाव आपरेशन में 21 लोगों की तीन टीमें बनाई गई थी। जिला कलक्टर दशरथ सत्पथी ने बताया कि इस घटना के बाद निपुनिया गांव के लोगों ने पूरी मुस्तैदी दिखाते हुए राहत कार्य में जुट गए।

 

मालूम हो कि 2014 में हीराकुद बांध में नाव दुर्घटना 31 लोगों के डूब मरने के बाद शासन ने नाव सुरक्षा की गाइड लाइन जारी की थी जिसका पालन शायद ही कहीं होता होगा। नाविकों को निर्देशित किया गया था कि पर्यटकों के लिए वे लाइफ जैकेट रखें। नाविकों के लिए लाइसेंसिंग प्रणाली भी लागू की गई थी। यहां पर पर्यटकों के लिए करीब 100 नावें संचालित की जाती हैं।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned