बर्ड फ्लू की चपेट में भुवनेश्वर, मारे जाएंगे हजारों पक्षी

Odisha News: 12 रैपिड रिसपांस टीम बनाई गई हैं। इसमें सात टीमों का काम एक किलोमीटर के दायरे में पोल्ट्री फार्म (Bird Flu In Bhubaneswar) खत्म (Bird Flu Symptoms) करना है...

भुवनेश्वर: ओडिशा बर्ड फ्लू की चपेट में आ गया है। कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पोल्ट्री फार्म से सैंपल भोपाल लैब भेजा गया था जहां से पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट के अनुसार तमाम चिकन (चूजे) पोल्ट्री फार्म में मरे पाए गए। मरे हुए चूचे का ब्लड सैंपल भोपाल लैब भेजा गया।

 

बर्ड फ्लू का अंदेशा पहले से ही था पर सैंपल की रिपोर्ट आने पर राज्य में बर्ड फ्लू कन्फर्म पाया गया। विभागाध्यक्ष सुषेन पंडा ने बताया कि इसकी सूचना राज्य सरकार को भेज दी गई है। उन्होंने बताया कि इसके वायरस हवा में तैरते हैं और कोई भी संक्रमित हो सकता है।

 

विश्वविद्यालय का पोल्ट्री फार्म के इर्दगिर्द एक से दस किमी.एरिया संक्रमित जोन घोषित किया जा चुका है। यहां पर सतर्कता बरती जा रही है। इस क्षेत्र के सभी पोल्ट्री फार्म से मुर्गें, मुर्गी, चूजें दफ्न कर दिए जाएंगे। इसके अलावा 12 रैपिड रिसपांस टीम बनाई गई हैं। इसमें सात टीमों का काम एक किलोमीटर के दायरे में पोल्ट्री फार्म खत्म करना है।

 

मिली जानकारी के अनुसार एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस H5N1 बर्ड फ्लू का मुख्य कारक है। यह वायरस पक्षियों और इंसानों मुख्यत: अपना शिकार बनाता है। संक्रमित पक्षियों के संपर्क में रहने से यह इंसानों में आसानी से फैल सकता है।

 

बर्ड फ्लू से पीड़ित इंसानों में पाएं जाते हैं यह लक्षण

बुखार, कफ रहना, नाक का बहते रहना, लगातार सर दर्द,गले में सूजन, मांसपेशियों में दर्द, दस्त, उल्‍टी का मन होना, पेट के निचले हिस्से में दर्द, सांस लेने में समस्या, सांस ना आना, निमोनिया भी हो सकता है।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned