स्वैच्छिक सेवानिवृत्त आईएएस अपराजिता राजनीति में जाएंगी,इस लोकसभा सीट से चुनाव लडने की अटकलें

केंद्र में वह संयुक्त सचिव मनरेगा थी, 49 वर्षीय इस महिला अधिकारी ने 15 सितंबर को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन किया था...

By: Prateek

Published: 15 Nov 2018, 04:50 PM IST

(पत्रिका ब्यूरो,भुवनेश्वर): ओ़डिशा काडर की आईएएस अधिकारी अपराजिता षाडंगी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति पाने के बाद भुवनेश्वर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की सोच रही हैं। चर्चा है कि वह भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर मैदान में आ सकती हैं। भुवनेश्वर लोस क्षेत्र पुरी लोस क्षेत्र की बगल में हैं, जहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लड़ने की चर्चा है। अब उनके नौकरशाही रूतबे की पारी समाप्त हो गई है। उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की क्लीयरेंस केंद्र से मिल चुकी है। श्रीमती षाड़ंगी के स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की पुष्टि ओडिशा शासन ने भी की है। सन 1994 से सेवारत ओडिशा काडर की अपराजिता षाड़ंगी का केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्ति का कार्यकाल पांच वर्ष रहा, जो अगस्त में समाप्त हुआ था। केंद्र में वह संयुक्त सचिव मनरेगा थी। 49 वर्षीय इस महिला अधिकारी ने 15 सितंबर को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन किया था।

 

केंद्र सरकार के कार्मिक, सार्वजनिक शिकायत निवारण एवं प्रशिक्षण के विशेष सचिव रवीन्द्र नाथ साहू ने एक पत्र के माध्यम से सूचना दी कि सतर्कता और विभागीय कार्यवाही के किसी भी कोण से वह मुक्त हैं। उन पर विभाग से जुड़ा उनसे संबंधित काम भी लंबित नहीं है। उन्हें सेवामुक्त करने की औपचारिकताएं पूरी कर ली ली गई हैं। अपराजिता षाड़ंगी ने स्वैच्छिक सेवा के बाद चुनावी राजनीति में सक्रियता पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। समझा जाता है कि वह चुनाव की घोषणा से पहले किसी न किसी दल का दामन थाम सकती हैं।


सूत्र बताते हैं कि वह आगामी चुनाव में भुवनेश्वर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी से चुनाव लड़ सकती है। भुवनेश्वर म्युनिसिपल कमिश्नर पद पर तैनाती के दौरान 2006 से 2009 तक वह जनउपयोगी कार्यों के लिए काफी चर्चित रहीं। उन्होंने अपने ही बैच के अधिकारी संतोष षाड़ंगी से विवाह किया था

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned