ओडि़शा में ससुराल है सोनल मानसिंह का

ओडि़शा में ससुराल है सोनल मानसिंह का
sonal mansingh

| Publish: Jul, 14 2018 08:37:10 PM (IST) Bhubaneswar, Odisha, India

सोनल मानसिंह का ओडि़शा से गहरा नाता है। उनकी ससुराल बलूगंव खोरद जिले की है।

(महेश शर्मा की रिपोर्ट)
भुवनेश्वर । राज्यसभा में मनोनीत सोनल मानसिंह का ओडि़शा से गहरा नाता है। उनकी ससुराल बलूगंव खोरद जिले की है। प्रख्यात कवि मयधरमानसिंह के बेटे ललित मानसिंह से सोनल का विवाह हुआ था। ललित मानसिंह विदेश सचिच रहे हैं। बाद में दोनों का तलाक हो गया था । ओडिशी नृत्यांगना सोनल की विश्वव्यापी ख्याति है। छह दशक से भरतनाट्यम और ओडीसी नृत्य की प्रस्तुति करनेवाली मानसिंह ने मणिपुरी, कुचिपुरी के साथ संगीत का भी प्रशिक्षण भी लिया है। वह डांसर, कोरियोग्राफर, शिक्षक, वक्ता और सामाजसेवी के रूप में जानी जाती है।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए चार सदस्यों का मनोनयन किया है। शनिवार को सदस्यों के नाम का ऐलान कर दिया है. इनमें से एक मशहूर क्लासिकल डांसर सोनल मानसिंह भी शामिल हैं।

 

उच्च शिक्षा प्राप्त हैं सोनल मानसिंह

 

महाराष्ट्र और दिल्ली दोनों ही राज्यों की मानी जाने वाली 74 वर्षीय नृत्यांगना सोनल मानसिंह ने औपचारिक पढ़ाई की सबसे बड़ी डिग्री डी. लिट. हासिल की है। उन्होंने अपनी पढ़ाई भारतीय विद्या भवन, एलिफिंस्टन कॉलेज, मुंबई, जीबी पंत यूनिवर्सिटी, उत्तराखंड और संबलपुर यूनिवर्सिटी ओडीसा से की है। छह दशक से भरतनाट्यम और ओडीसी नृत्य की प्रस्तुति करनेवाली मानसिंह ने मणिपुरी, कुचिपुरी के साथ संगीत का भी प्रशिक्षण लिया है। वह डांसर, कोरियोग्राफर, शिक्षक, वक्ता और सामाजसेवी के रूप में मशहूर हैं।

 

संगीत नाटक अकादमी की चेयरपर्सन रहीं

 

उनकी उपलब्धियों में संगीत नाटक अकादमी अवार्ड (1987), राजीव गांधी एक्सिलेंस अवार्ड (1991), इंदिरा प्रियदर्शिनी अवार्ड (1994), मध्य प्रदेश सरकार का कालीदास सम्मान (2006), सबसे कम उम्र में पद्म भूषण सम्मान (1992) शामिल है। वहीं साल 2003 में पद्म विभूषण पाने वाली देश की दूसरी महिला बनीं। सोनल मानसिंह साल 2003 से 2005 तक संगीत नाटक अकादमी की चेयरपर्सन भी रह चुकी हैं। साल 2016 से वह इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर ऑफ आट्र्स की ट्रस्टी और सेंट्रल एडवाइजरी बोर्ड ऑफ कल्चर की मेंबर हैं। उन्होंने साल 1974 में भीषण हादसे की शिकार होने के बावजूद मंच पर वापसी की और साल 1977 में दिल्ली में सेंटर फॉर इंडियन क्लासिक डांसेस की स्थापना कर सैकड़ों प्रशिक्षुओं की लगातार मदद कर रही हैं। साल 2002 में फिल्म निर्देशक प्रकाश झा ने सोनल मानसिंह के चार दशकों के डांस कैरियर पर केंद्रित एक डॉक्यूमेंट्री का निर्माण किया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned