शोरगुल के बीच पूरक बजट पेश होने के बाद ओडिशा विधानसभा का सदन स्थगित

शोरगुल के बीच पूरक बजट पेश होने के बाद ओडिशा विधानसभा का सदन स्थगित

Prateek Saini | Publish: Sep, 05 2018 05:42:05 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 05:42:06 PM (IST) Bhubaneswar, Odisha, India

सदन में जैसे ही वित्तमंत्री शशिभूषण बेहरा ने पूरक बजट सदन पटल पर पेश किया तो कांग्रेस और भाजपा के विधायकों ने हल्लागुल्ला शुरू कर दिया...

(पत्रिका ब्यूरो,भुवनेश्वर): ओडिशा विधानसभा के मॉनसून सत्र में वित्तीय साल 2018-19 के लिए वित्तमंत्री शशिभूषण बेहरा ने 12,790 करोड़ रुपए का पूरक बजट पेश किया। बेहरा ने बताया कि पूरक बजट में 1800 करोड़ रुपए प्रशासनिक बजट, 9,611 करोड़ कार्यक्रम व्यय, 1,364 करोड़ डिजास्टर रिसपांस फंड तथा 750 करोड़ रुपया शिक्षा सहायकों के लिए वेतन की मद में प्रावधान किया गया।


गुरूवार तक सदन स्थगित

सदन में जैसे ही वित्तमंत्री शशिभूषण बेहरा ने पूरक बजट सदन पटल पर पेश किया तो कांग्रेस और भाजपा के विधायकों ने हल्लागुल्ला शुरू कर दिया। शोरगुल के कारण सदन बाधित होने लगा तो विधानसभा अध्यक्ष प्रदीप कुमार अमात ने अगले दिन यानी गुरूवार तक सदन स्थगित कर दिया।

 

 

विपक्ष ने की सरकार को घेरने की कोशिश

इससे पूर्व सदन की बैठक शुरू होते ही भाजपा और कांग्रेस के विधायकों ने विभिन्न मुद्दों पर नवीन पटनायक सरकार को घेरने की कोशिश की। कांग्रेस के विधायक ईंधन के दाम बढ़ने को लेकर सदन कूप तक जा पहुंचे और धरना दिया तो भाजपा के विधायक टीचरों की हड़ताल के मुद्दे पर सरकार को घेरते दिखे। नेता प्रतिपक्ष नरसिंह मिश्र ने कहा कि पेट्रोल-डीजल दाम बढ़ोत्तरी पर बीजद और भाजपा नूरा कुश्ती लड़ रही हैं। इन पर राज्य सरकार ने कभी रिव्यू तक नहीं किया। भारी शोरगुल होते देखकर विधानसभा अध्यक्ष प्रदीप अमात ने गुरुवार को 11.30 बजे तक सदन स्थगित कर दिया। भाजपा विधायकों ने टीचरों के मुद्दे पर विधानसभा के सामने प्रदर्शन किया। बीजद प्रवक्ता समीर दास ने बताया कि कांग्रेस और भाजपा हाई लाइट होने के लिए विरोध कर रहे हैं। ऐसा कोई मुद्दा नहीं है जिस पर प्रतिरोध की संभावना हो।

 

यह भी पढे: भाजपा का कांग्रेस पर बड़ा हमला, सोनिया के अधीन एनएसी नक्सलवाद समर्थक संस्था थी-संबित पात्रा

यह भी पढे: उप-वायुसेना प्रमुख ने राफेल को बताया खूबसूरत, साथ ही बोले- विमान जल्दी मिलने से मतलब, चाहे ठेका निजी कंपनी को मिले

Ad Block is Banned