सोनू सूद के इस फैसले के आगे सरकारें भी फेल, यूं ​की ओडिया मजदूरों की मदद, जीता दिल

सोनू मजूदरों की अपील मात्र पर कार्रवाई करते हुए सैकड़ों लोगों को उनके घर भेज चुके हैं, इसी बीच (Bollywood News) सोनू ने वह कर दिखाया जो किसी सरकार ने भी नहीं सोचा (Sonu Sood Sent 177 Odiya Girls Home By Flight From Kerala) होगा (Sonu Sood Leatest News) (Sonu Sood Airlifted 177 Odiya Girls From Kerala) (Odisha News)...

By: Prateek

Published: 30 May 2020, 03:16 PM IST

भुवनेश्वर: Coronavirus (Covid-19) संकटकाल प्रवासी मजदूरों के लिए शामत बनकर आया। लॉकडाउन के कारण जब सब कुछ बंद हुआ इनके मालिकों ने हाथ खींच लिए। सरकारी इंतजाम नाकाफी थे। श्रमिकों ने खुद ही घर जाने की ठानी। राह में कईं लोगों ने मदद के लिए हाथ बढाए तो इनके मुंह से उनके लिए दुआएं निकली। ऐसी ही एक शख्सियत है बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद जो प्रवासी मजदूरों के दिलों में राज करने लगे हैं। अब तक सोनू मजूदरों की अपील मात्र पर कार्रवाई करते हुए सैकड़ों लोगों को उनके घर भेज चुके हैं। इसी बीच सोनू ने वह कर दिखाया जिसे करने में सरकारें भी गुरेज कर रही हैं।

 

यह भी पढ़ें: झारखंड में फिर आई श्रमिक स्पेशल फ्लाइट, लेह से दिल्ली फिर रांची पहुंचे मजदूर

झारखंड के बाद सोनू ने किया एयरलिफ्ट...

 

सोनू सूद के इस फैसले के आगे सरकारें भी फेल, यूं ​की ओडिया मजदूरों की मदद, जीता दिल

जी हां, देश में केवल झारखंड की राज्य सरकार ने ही बाहरी राज्यों में रहकर काम करने वाले झारखंडवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए हवाई सेवा का उपयोग किया है। लेकिन किसी सरकार का हिस्सा ना होकर भी सोनू सूद ने केरल से 177 लड़कियों को विशेष विमान के जरिए ओडिशा पहुंचाया है।

 

यह भी पढ़ें: मजदूरों के लिए फरिश्ता बने Sonu Sood को मदद करते देख बॉलीवुड एक्टर ने सरकार पर साधा निशाना.कही ये बड़ी बात

मदद की अपील पर दिलाया भरोसा..

सोनू सूद के इस फैसले के आगे सरकारें भी फेल, यूं ​की ओडिया मजदूरों की मदद, जीता दिल

मिली जानकारी के अनुसार केरल के एर्नाकुलम जिले की स्थानीय कपड़ा फैक्ट्री में सिलाई, कढ़ाई का काम करने के लिए ओडिशा के विभिन्न जिलों से लड़कियां गई थीं। लॉकडाउन में सभी वहां फंस गई। दो महीने संकट में निकालने के बाद इन्होंने वीडियो बनाकर मदद के लिए गुहार लगाई। यह वीडियो सोशल मीडिया के जरिए अभिनेता सोनू सूद तक पहुंचा। सोनू वैसे भी इन दिनों प्रवासी कामगारों को उनके घर तक भेजने में जुटे हुए हैं। उन्होंने सभी को मदद करने का आश्वासन दिलाया और काम में लग गए।

 

यह भी पढ़ें: सोनू सूद ने किया खुलासा, प्रवासियों को भेजने में एक बस पर होता है इतना खर्च, जानकर होश उड़ जाएंगे

बस से आई मुश्किल तो आया एयरलिफ्ट का आईडिया...

सोनू सूद के इस फैसले के आगे सरकारें भी फेल, यूं ​की ओडिया मजदूरों की मदद, जीता दिल

अब तक सोनू केवल बसों के माध्यम से श्रमिकों को घर भेज रहे थे। लेकिन एर्नाकुलम से ओडिशा जाने के लिए कईं राज्यों की सीमाओं को पार करना पड़ता। इस दौरान कईं सरकारी प्रोटोकाल और नियमों का पालन करना पड़ता। इसी बीच सोनू ने इन ओडिया श्रमिकों को एयरलिफ्ट करने की सोची। इसके बाद एयर एशिया की विशेष फ्लाइट के जरिए केरल के कोचीन एयरपोर्ट से सभी को भुवनेश्वर एयरपोर्ट पहुंचाया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 177 लड़कियों के साथ ही अन्य 10 श्रमिकों ने भी फ्लाइट से सफर किया। यह सभी भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर उतरे यहां से प्रशासन की ओर से बसों की व्यवस्था की गई जिससे इन्हें संबंधित जिले तक पहुंचाया जा सके। घर जाने से पहले इन्हें सरकारी प्रोटोकाल के तहत क्वारंटाइन रहना होगा।

बच्चे का नाम सोनू सूद...

सोनू सूद के इस फैसले के आगे सरकारें भी फेल, यूं ​की ओडिया मजदूरों की मदद, जीता दिल

वैसे सोनू अपने काम की वजह से इन दिनों जनता के दिलों पर छाए हुए हैं। लोग भी उनका शुक्रिया अदा करने में पीछे नहीं है। बीते दिनों सोनू ने एक गर्भवती महिला को बिहार के दरभंगा पहुंचाया था। महिला ने बच्चे को जन्म दिया। इन नवजात का नाम महिला ने सोनू सूद रखा। सोनू को यह बात पता चली तो उन्होंने इसे अपने लिए सबसे बड़ा सम्मान और अवॉर्ड बताया।

ओडिशा की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned