जब दूल्हे ने जेबीसी पर बैठ निकाली बारात, देखने वाले रह गए हैरान

जब दूल्हे ने जेबीसी पर बैठ निकाली बारात, देखने वाले रह गए हैरान

Deepak Sahu | Updated: 15 May 2019, 09:27:52 PM (IST) Bijapur, Bijapur, Chhattisgarh, India

हर व्यक्ति अपने शादी को यादगार बनाने के लिए कोशिश करता है। कोई दूल्हा महंगी कार, कोई घोड़ा या महंगी बग्घी पर सवार होकर बारात जाता है।

कसडोल. नगर में एक अनोखी शादी देखने को मिली। पेशे से इंजीनियर का काम कर रहे अमिश कुमार डहरिया ने जेसीबी मशीन को पालकी बनाकर अनोखे अंदाज में बारात निकाली। यही नहीं उसने लडक़ी पक्ष से एक रुपए या किसी तरह के कोई सामान न लेकर अनूठी व अनुकरणीय मिसाल प्रस्तुत किया है।

हर व्यक्ति अपने शादी को यादगार बनाने के लिए कोशिश करता है। कोई दूल्हा महंगी कार, कोई घोड़ा या महंगी बग्घी पर सवार होकर बारात जाता है। लेकिन पेशे से ईंजीनियर कसडोल निवासी दूल्हा अमिश डहरिया ने जेसीबी पर सवार होकर पहुंचा।

अमिश को बचपन से ही इंजीनयर बनने का सपना था। इंजीनियर बने के बाद उन्होंने जेसीबी में बारात जाना तय किया। जेसीबी में निकली बारात को देखकर लोग अचरज में पड़ गए।

अमिश के पिता बलराम डहरिया आश्रम शाला कसडोल में प्रधान पाठक है । दूल्हा अमिश कुमार ने बारात जाने के लिए वाहनों के काफिले की जरूरत न पड़े इसके लिए उसने लडक़ी पक्ष वालों को शादी के लिए कसडोल नगर ही बुला लिया था।

एक माह पहले से मंगल भवन को अपने खर्च पर किराए पर ले लिया था। दहेज़ में औपचारिक रूप से दिए जाने वाले सभी सामानों को खरीदकर लडक़ी पक्ष को दे दिया था। ऐसा नहीं है कि लडक़ी वालों की माली हालत खराब है, बल्कि वे सम्पन्न परिवार से हैं। वधु बैंक में असिस्टेंट मैनेजर है।

अमिश ने समाज के लोगों को दहेज लेने और देने की प्रथा को समाप्त करने का संदेश दिया है। साथ ही युवाओं को काबिल होने के बाद गृहस्थी बसाने की सीख भी दी है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned