यूपी के इस शहर में Bird Flu की पुष्टि, प्रशासन ने क्षेत्र कराया सील

Highlights:

-28 दिसंबर को एक पोल्ट्री फार्म मालिक ने मुर्गे मरने की सूचना दी थी

-मरी हुई मुर्गियों का प्रशासन ने पोस्टमार्टम कराया था

-पोल्ट्री फार्म के एक किमी का दायरा सील

By: Rahul Chauhan

Published: 28 Jan 2021, 04:26 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

बिजनौर। जनपद के अलग-अलग क्षेत्रों में कुछ दिन पहले मुर्गी फार्म पर कई मुर्गे मरे हुए मिले थे। अन्य जगहों पर भी कौवें और अन्य पक्षी मरे हुए मिल रहे थे। पक्षियों के मृत मिलने पर पशु चिकित्सक द्वारा पक्षियों का पोस्टमार्टम कराया गया था। इस पोस्टमार्टम की रिपोर्ट प्रशासन को अब मिली है। इस रिपोर्ट के आधार पर बर्ड फ्लू की पुष्टि प्रशासन द्वारा की गई है। बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद मुर्गे के पोल्ट्री फार्म के 1 किलोमीटर के दायरे को प्रशासन द्वारा सील करा दिया गया है। मुर्गे सहित अन्य पक्षियों को भी मिट्टी में दबाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: भतीजा निकला चाची का हत्यारा, अवैध संबंध का विरोध करने पर ले ली जान

दरअसल, के धामपुर क्षेत्र के आमखेड़ा संजय पुर गांव में 28 दिसंबर को एक पोल्ट्री फार्म मालिक के कई मुर्गे मरने की सूचना जिला प्रशासन को हुई थी। मौके पर पहुंचे पशु चिकित्सक अधिकारी ने सभी मुर्गों को दबाने के आदेश दिए थे और पोस्टमार्टम के लिए कुछ मुर्गों को भेजा गया था। अब रिपोर्ट आने के बाद पता चला है कि इन मुर्गों की मौत बर्ड फ्लू के कारण हुई थी। वही पोल्ट्री फॉर्म के मालिक मदन पाल ने बताया कि 28 दिसंबर को उनके पोल्ट्री फॉर्म में कुछ मुर्गियां मर गई थी। इसकी सूचना उसने कांटेक्ट फार्मिंग कंपनी के लोगों को दी थी।उधर प्रशासन द्वारा मरी हुई मुर्गियों का पोस्टमार्टम कराया गया। अब पता चला है कि उन मुर्गियों की मौत बर्ड फ्लू के कारण हुई थी। वही पोल्ट्री फॉर्म के मालिक द्वारा सभी मुर्गियों को मिट्टी में दबा दिया गया है।

यह भी देखें: बेटियों ने संभाली जिले की कमान, सुनी जनता की शिकायतें

बर्ड फ्लू की पुष्टि करते हुए एसडीएम धामपुर धीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि कुछ समय पहले गांव अमखेड़ा संजयपुर में एक पोल्ट्री फॉर्म में कई मुर्गियां मर गई थी। इन मुर्गियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्रशासन को अब मिली है। रिपोर्ट के आधार पर मुर्गों की मौत बर्ड फ्लू के कारण हुई है। इस गांव के 1 किलोमीटर के दायरे को प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया है और आसपास के 10 किलोमीटर के क्षेत्र में मुर्गी पोल्ट्री फार्म वाले सभी मालिकों को मुर्गी मिट्टी में दबाने के लिए आदेश दिए गए हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned