किसानों ने जान खतरे में डालकर किया प्रदर्शन, मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने किया यह आग्रह- देखें वीडियो

किसानों ने जान खतरे में डालकर किया प्रदर्शन, मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने किया यह आग्रह- देखें वीडियो

Nitin Sharma | Updated: 20 Aug 2019, 06:11:59 PM (IST) Bijnor, Bijnor, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • किसानों के प्रदर्शन की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी
  • प्रदर्शन कर रहे किसानों को आश्वासन देकर निकला गंगा से बाहर

बिजनौर। जिले के मंडावर थाना क्षेत्र के डेवलगढ़ गांव के रहने वाले किसान और भारतीय किसान यूनियन के लोगों मंगलवार को अचानक गंगा पुल पर जा पहुंचे। यहां उन्होंने गंगा में उतरकर जल्द पुल बनाने की मांग करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसकी सूचना लगते ही पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। किसानों की सुरक्षा को लेकर प्रदर्शन की जानकारी लगते ही पुलिस व प्रशासन अधिकारी मौके पर पहुंचे।

डॉक्टर दंपति ने इस बात से परेशान होकर बच्चों के साथ खा लिया जहर, जानकर उड़ गये सभी के होश- देखें वीडियाे

हर दिन इस वजह तय करनी पड़ती लंबी दूरी

ग्रामीणों का आरोप है कि डेवलगढ़ का किसान नाव से गंगा पार करके रोजाना बालावाली और रावली क्षेत्र में जाकर जानवरों के लिए चारा और किसानी का काम करता है। बरसात के मौसम में गंगा का जलस्तर बढ़ जाने से हर साल नाव हादसे में कई ग्रामीणों की जान जाती रही है। इसी को लेकर मंगलवार को ग्रामीण भारतीय किसान यूनियन नेताओं के साथ मिलकर गंगा के पानी में उतर गये। यहां उन्होंने पानी में खड़े होकर जल्द से जल्द पुल बनाने की मांग की। मौके पर पहुंचे प्रशासन ने किसानों से बातचीत कर उच्च अधिकारियों के संज्ञान में मामले को रखने की बात कही है।

सपा विधायक की छोटी बहन की हत्या से मचा हड़कंप, चौंकाने वाला मामला आया सामने

पिछले साल गंगा में डूबने से हुई थी नौ लोगों की मौत

बरसात के मौसम में गंगा का जलस्तर बढऩे से डेवलगढ़ के ग्रामीणों की नाव डूबने के कारण मौत होती रही है। पिछले साल पशुओ का चारा लेकर लौट रहे ग्रामीणों से भरी नाव बीच गंगा में डूब गई थी। इसमें करीब 9 लोगों की डूबकर मौत हो गई थी। बाकी लोगों को ग्रामीणों ने बचा लिया था। आगे ऐसे हादसे न हो। इसके लिए ग्रामीणों ने भारतीय किसान यूनियन पार्टी के लोगों के साथ मिलकर प्रदर्शन कर एक गंगा के छोर से दूसरे छोर तक पुल बनवाने की मांग की है। उधर जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि किसानों से बातचीत की गई है और इनकी समस्या को उच्चाधिकारियों के समक्ष रखा जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned