चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद अब बिजनाैर में बढ़ा गंगा का जलस्तर, किसानाें के गंगा पास जाने पर राेक

  • जलस्तर बढ़ने के साथ ही प्रशासन ने किसानाें काे गंगा किनारे लगी प्लेज में जाने राेक दिया है। गंगा किनारे पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

By: shivmani tyagi

Published: 12 Feb 2021, 08:31 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

बिजनौर. उत्तराखंड के चमाैली में अचानक से ग्लेशियर फटने से मची तबाही के बाद बिजनौर में गंगा बैराज का जलस्तर बढ़ गया है। गंगा किनारे किसानों की लगी सब्ज़ी की प्लेज में पानी आने से खराब हाे गई है। पानी के बढ़े जलस्तर के कारण पैंटून पुल से आने जाने वाले लोगो को रोक दिया गया है। इस पुल से 12 से अधिक गांव के लोग रोजाना खेती करने के लिये आते-जाते है।

यह भी पढ़ें: इंजीनियर पति बोला मायके से ऑडी कार लाओं वर्ना दे दूंगा तलाक

उत्तराखंड के चमोली में अभी हाल ही में ग्लेशियर के फटने से जान माल की भारी तबाही का मंजर देखने को मिला था। गंगा का जल स्तर बढ़ने से हरिद्वार गंगा से 22 हज़ार क्यूसेक पानी छोड़ने से बिजनौर के गंगा बैराज घाट पर भी एक मीटर के करीब पानी चलने से गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। गंगा किनारे सब्ज़ी की खेती करने वाले किसानों की सब्ज़ी की खेती में पानी आने से किसानों की फसल बर्बाद हो गई है।

यह भी पढ़ें: प्रदेश में चर्चा का विषय बनी मेरठ जेल में उगाई गई साढ़े चार किलो की गाेभी, खासियत जान आप भी रह जाएंगे हैरान

इन किसानों की माने तो ज़्यादा पानी आने पर सब्ज़ी की फसल पूरी तरह से चौपट हो जाएगी। पानी के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए प्रशासन ने गांव के लोगों को गंगा पार खेती करने से रोक दिया है। कोई भी ग्रामीण गंगापार खेती करने ना जाए इसको लेकर प्रशासन ने क्षेत्र में पुलिस बल को तैनात किया गया है। पता चल रहा है कि आगे भी हरिद्वार से पानी छोड़े जाने पर गंगा का जलस्तर बढ़ेगा।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned