IAS Ramakant Pandey ने रामपुर जिलाधिकारी का पद संभालते ही अधिकारियों को दे डाले ये निर्देश, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Updated: 17 Jul 2019, 05:05:58 PM (IST) Bijnor, Bijnor, Uttar Pradesh, India

खबर की मुख्य बातें-

-डीएम ने कहा कि अगर कोई कार्य करने में देर कर रहा है तो समझ लीजिए वह गलती कर रहा है

-नए जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने कहा कि सावन के महीने में कांवड़ यात्रा का विशेष महत्व है

-ऐसे में व्यवस्थाएं बढ़ाना भी जरूरी है

 

बिजनौर। जनपद के नए जिलाधिकारी ने बुधवार को एक प्रेस वार्ता की। जिसमें उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आपदा प्रतीक्षा नहीं करती, इसलिए जितना जल्दी हो सके आपदा स्थल पर पहुंचने का प्रयास करें और आपदा से निपटने के लिए हर संभव प्रबंध कर लें। डीएम ने कहा कि अगर कोई कार्य करने में देर कर रहा है तो समझ लीजिए वह गलती कर रहा है।

यह भी पढ़ें : आजम खान से चुनाव हारने के बाद फिर से रामपुर छोड़ेंगी जया प्रदा

बिजनौर जनपद के नए जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने जिला अधिकारी के पद पर ज्वाइन करते हुए पत्रकार वार्ता में कहा कि सावन के महीने में कांवड़ यात्रा का विशेष महत्व है। कांवड़ियों की संख्या हर वर्ष बढ़ रही है। ऐसे में व्यवस्थाएं बढ़ाना भी जरूरी है। उन्होंने कावड़ मार्गों पर सफाई व सुरक्षा आदि के विशेष प्रबंध किए जाने की बात कही। नदियों से जिन जगहों पर बरसात में पानी आ जाता है, वहां अब पुलिस और राजस्व विभाग के कर्मचारी 24 घंटे तैनात रहेंगे।

यह भी पढ़ें : परेशान सैकड़ों परिवारों ने दी पलायन की चेतावनी, घर के बाहर लिखा-यह मकान बिकाऊ है

इस संबंध में उन्होंने सभी अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। सफाई व्यवस्था पर नए जिलाधिकारी का विशेष जोर रहेगा। उन्होंने कहा कि नगरों में सफाई व्यवस्था तथा अतिक्रमण को हटाना नगर निकायों की प्राथमिकताएं होंगी। नागरिकों को सुविधाएं उपलब्ध कराना और उनके स्वास्थ्य की चिंता करना नगर पालिकाओं व नगर पंचायतों का दायित्व है।इस संबंध में कोई भी समझौता नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : मुठभेड़ के दौरान पुलिस की गोली लगने से 2 बदमाश घायल, 6 गिरफ्तार, देखें वीडियो

जिलाधिकारी ने जिला मुख्यालय पर मंडी ना होने के संबंध में कहा कि मंडी परिषद के निदेशक के रूप में उन्होंने इस संबंध में काफी पत्राचार किया है। उन्होंने बताया कि समस्या मंडी के लिए जमीन ना मिलना नहीं है। बल्कि अच्छे मुआवजे के लिए ज्यादा लोग अपनी जमीन देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मंडी समिति के लिए उनके द्वारा प्रयास किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned