NHRC 'अधिकारियों' को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानिए क्यों

NHRC 'अधिकारियों' को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानिए क्यों

Nitin Sharma | Publish: Aug, 14 2019 05:29:04 PM (IST) Bijnor, Bijnor, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • बेरोजगारी से परेशान होकर अधिकारी बने चारों शख्स
  • पुलिस ने चारों फर्जी अधिकारियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

बिजनौर। थाना कोतवाली शहर क्षेत्र में राष्ट्रीय मानव अधिकार नियंत्रण ब्यूरो एवं अपराध नियंत्रण ब्यूरो के फर्जी अधिकारी बनकर मेडिकल स्टोरों व दुकानदारों से अवैध रूप से उगाही करने वाले 4 फर्जी अधिकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वारा इनकी तलाशी लिए जाने पर इनके पास से 9 आईडी मिली हैं, जो फर्जी पाई गई हैं। पुलिस द्वारा इन फर्जी अधिकारियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

इस नेता पर महिला ने लगाया यौन शोषण का आरोप, स्कूल की मान्यता दिलाने का दिया था लालच

मेडिकल स्टोरों और दुकानों पर कर रहे थे छापेमारी

एसपी संजीव त्यागी ने फर्जी 4 अधिकारियों को गिरफ्तार करते हुए बताया कि उन्हें विश्वसनीय सूत्रों से पता चला था कि बिजनौर के एक गिरोह फर्जी राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं अपराध नियंत्रण ब्यूरो का अध्यक्ष बताकर जनपद के मेडिकल स्टोरों तथा दुकानों को चेक कर रहे हैं। साथ ही इनके द्वारा अवैध रूप से रुपयों की उगाही की जा रही है। इस गिरोह के कुछ लोग जनपद व कुछ उत्तर प्रदेश के अन्य जनपदों के हैं। जिस पर थाना प्रभारियों को निर्देशित कर इस गिरोह को पकडऩे की कवायद शुरू की गई थी।

Ghaziabad: यह गैंग जनरेट करता है New Code Word और फिर बदमाश देते हैं हत्या की वारदात को अंजाम

उन्होंने बताया कि थाना कोतवाली पुलिस ने रेंडम चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर रजत होटल सिविल लाइन के पास से इन चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। यह चारों आरोपी मोहित रौनियार, किशन कुमार, राधेश्याम, यशपाल सिंह है। पुलिस ने इनके कब्जे से 9 फर्जी आईडी भी बरामद की हैं। साथ ही एक बुलेरो गाड़ी भी पुलिस ने इनके पास से बरामद की है। पूछताछ में पता चला है कि यह लोग बेरोजगार थे। अच्छी शिक्षा ग्रहण करने के बावजूद भी इनके पास काम ना होने के कारण यह फर्जी राष्ट्रीय मानव अधिकार नियंत्रण ब्यूरो एवं अपराध नियंत्रण ब्यूरो का अधिकारी व कार्यकारी अध्यक्ष बनकर फर्जी परिचय पत्र बनाकर मेडिकल स्टोर और दुकानदारों को ठगने का काम कर रहे थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned