यूपी में उपचुनाव से पहले हो रही थी बड़ी 'साजिश', पुलिस ने किया नाकाम

Highlights:

-5000 से 10000 रुपये पर तमंचा बनाकर बेचेने का काम कर रहा था

-इससे उसके घर का खर्च एवं शौक पूरे हो जाते थे

-पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है

By: Rahul Chauhan

Published: 24 Oct 2020, 06:09 PM IST

बिजनौर। अवैध शस्त्रों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत स्वाट टीम एवं धामपुर पुलिस द्वारा मुखबिर की सूचना पर एक घर में बने तहखाने से अवैध शस्त्रों का संचालन करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। इस अपराधी द्वारा आस पास के क्षेत्रों में अवैध तमंचा बनाकर उसे बेचेने का काम किया जा रहा था। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर अपराधी को गिरफ्तार करके शनिवार को जेल भेज दिया है।

दरअसल, गिरफ्तार किए गये अभियुक्त करीमुद्दीनपुर निवासी गाँव मिर्जापुर अल्लाह वाला, जनपद रामपुर है। उसने पुलिस पूछताछ में बताया कि अत्यधिक रुपये कमाने की लालसा में वह अवैध शस्त्र बनाकर बेचने लगा था। पिछले 10 वर्षों से यह कार्य वह फारुख के साथ मिलकर कर रहा था। परंतु फारुख की मृत्यु करीब 4 वर्ष पहले हो चुकी है। फारुख की मृत्यु के बाद वह यह काम अकेले कर रहा था।

चुनावी माहौल के चलते शस्त्रों की ज्यादा मांग होने के कारण इसकी कीमत 5000 से 10000 रुपये पर तमंचा बनाकर बेचेने का काम कर रहा था। जिससे उसके घर का खर्च एवं शौक पूरे हो जाते थे।एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने बताया कि बरामद किए गए अभियुक्त के पास से तीन तमंचा 315 बोर, एक तमंचा 12 बोर, लोहे की नाली शस्त्र बनाने के उपकरण हथौडा, ड्रिल मशीन, आरी, रेती आदि बरामद हुए हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned