सपा नेता के घर पूछताछ करने पहुंची पुलिस तो पिता की अचानक ऐसे हो गई मौत, गांव में भारी पुलिस बल तैनात- देखें वीडियाे

सपा नेता के घर पूछताछ करने पहुंची पुलिस तो पिता की अचानक ऐसे हो गई मौत, गांव में भारी पुलिस बल तैनात- देखें वीडियाे

Nitin Sharma | Updated: 17 Aug 2019, 12:39:25 PM (IST) Bijnor, Bijnor, Uttar Pradesh, India

मुख्य बातें

  • किसी मामले में सपा नेता के घर जांच करने पहुंचे थे पुलिसकर्मी
  • परिजनों का आरोप इसी दौरान पुलिस की धक्का मुक्की से हुई बुजुर्ग की मौत
  • पुलिस अधिकारियों ने परिवार के आरोपों को बताया निराधार

बिजनौर। जिले के स्योहारा थाना क्षेत्र में बीती रात उस वक्त हंगामा हो गया। जब एक मामूली विवाद की जांच करने आई पुलिस की धक्का मुक्की से सपा नेता के बुजुर्ग की मौत हो गई। इस पर गुस्साएं ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर हंगामा किया। मौके पर भारी तादाद में पुलिस बल को तैनात किया। इसके साथ ही मृतक के घर वालों ने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाया। हालांकि पुलिस के अधिकारियों ने इन आरोपों को गलत बताते हुए बुजुर्ग को अचानक हार्ट अटैक होने से मौत होने का दावा किया है।

माता-पिता के बाहर जाते ही कलयुगी भाई ने कर दी छोटी बहन की गला रेतकर हत्या और फिर पहुंच गया थाने

एक मामले को पूछताछ करने पहुंची थी पुलिस

दरअसल ये पूरा मामला बिजनौर के स्योहारा थाना क्षेत्र के ग्राम ठाटजट्ट का है। जहां आरोप है की मामूली विवाद की जांच करने पहुंची पुलिस ने एक बुज़ुर्ग के साथ धक्का मुक्की और मारपीट कर गाड़ी में डालने का प्रयास किया। इसी दौरान बुज़ुर्ग की हार्ट अटैक से मौत हो गई। परिजनों का आरोप है की सपा नेता और पूर्व प्रधान शमशाद हुसैन के पिता शराफत हुसैन रिटायर्ड टीचर थे। बीती रात किसी विवाद की जांच करने स्योहारा पुलिस उनके घर पहुंची थी। इसी दौरान पुलिस ने उनके साथ धक्का मुक्की और मारपीट कर गाड़ी में डालने का प्रयास किया। बताया जा रहा है कि इसी दौरान बुज़ुर्ग की हार्ट अटैक से मौत हो गई। बुज़ुर्ग की मौत के बाद गांव में आक्रोश फैल गया। ग्रामीणों ने शव को रखकर पुलिस के खिलाफ जमकर हंगामा हुआ।

पुलिस ने गलत बताये आरोप

एसओ स्योहारा उदय प्रताप ने बताया कि शराफत के घर पुलिस किसी मामले में पूछताछ करने गई थी। पुलिस वापस थाने आ गई। इसके बाद में बुज़ुर्ग को हार्ट अटैक आया और मौत हो गई। मृतक के परिजनों द्वारा धक्का मुक्की और मारपीट के आरोप निराधार है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned