बिजनौर में बछड़ा बांधने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष

एक पक्ष बछड़ा बांध रहा था दूसरे ने इसका विराेध किया। इतनी सी बात पर दोनों पक्षों के बीच जमकर लाठी-डंडे और धारदार हथियार चले। आधा दर्जन से अधिक लाेगाें को चोटें आई हैं।

By: shivmani tyagi

Updated: 05 Sep 2020, 01:48 PM IST

बिजनौर। बछड़ा बांधने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इस संघर्ष के दौरान एक पक्ष के छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इन सभी घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल बिजनौर भेज दिया गया है। घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुट गई है।

यह भी पढ़ें: चौतरफा घिरे आजम: अब योगी सरकार ने दिए गाजियाबाद और लखनऊ हज हाउस के निर्माण की जांच के आदेश

घटना थाना कोतवाली देहात के करौंदा गांव की है। इसी गांव में बछड़ा बांधने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। एक पक्ष से घायल अनीश के अऩुसार वह अपने घर पर जब बछड़ा बांध रहा था। दूसरे पक्ष के नफीस से उसकी कहासुनी हो गई। बाद में कहासुनी इतनी बढ़ गई कि नफीस ने अपने परिवार के वसीम इमरान और सानू के साथ मिलकर अनीश पर हमला कर दिया। इस हमले के दौरान अनीश पक्ष के वसीम ,राशिद,अफसर और नाजिम मारपीट में गंभीर रूप से घायल हो गए।

यह भी पढ़ें: सावधान! राम मंदिर के नाम पर काटी जा रही चंदे की रसीद, झांसे में आकर आप भी न कर बैठे दान

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। जहां पर गंभीर हालत में सभी घायलों को जिला अस्पताल बिजनौर रेफर कर दिया गया है।इस घटना को लेकर एसपी देहात संजय कुमार ने बताया कि सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुट गई है। पीड़ित पक्ष द्वारा तहरीर मिलने पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिख कर कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned