अस्पताल में इलाज के दौरान बच्चे की मौत के बाद हंगामा, मारपीट में एक महिला गंभीर

Highlights

- बिजनौर के जजी रोड स्थित एक निजी हॉस्पिटल का मामला

- डॉक्टर पर गलत इंजेक्शन देने का भी आरोप लगाते हुए परिजनों ने किया हंगामा

- हंगामे के बाद मारपीट में एक महिला भी गंभीर रूप से घायल

By: lokesh verma

Published: 27 Feb 2021, 04:49 PM IST

बिजनौर. उपचार के दौरान एक बच्चे की मौत के बाद अस्पताल में परिजनों जमकर हंगामा किया है। हंगामा करने के दौरान अस्पताल स्टाफ और परिजनों में जमकर मारपीट हुई । मृतक बच्चे के परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर मारपीट का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं डॉक्टर पर गलत इंजेक्शन देने का भी आरोप परिवार वालों ने लगाया है। इस मारपीट में एक महिला भी गंभीर रूप से घायल हो गई है।

यह भी पढ़ें- तमंचे के बल पर फाइनेंसर से लूट करना पड़ा भारी, दो गिरफ्तार, दो फरार

बिजनौर जिले के रम्मनपुर गांव के रहने वाले आकाश ने बिजनौर के जजी रोड स्थित एक निजी हॉस्पिटल में 8 महीने के बच्चे को इलाज के लिए भर्ती कराया था। दोपहर 2 बजे के करीब बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर गलत इंजेक्शन लगाने से मौत हो जाने और 50 हजार रुपए जमा कराने का आरोप लगाया है। इतना ही नही बच्चे की मौत के बाद 50 हजार रुपए और मांगने का भी आरोप लगाया है। परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल पर जमकर हंगामा किया। हंगामे से बौखलाए डॉक्टर और स्टाफ ने परिजनों पर जानलेवा हमला बोल दिया, जिसमें एक महिला व एक युवक घायल हो गया। मृतक के परिजनों ने थाने में डॉक्टर और स्टाफ के खिलाफ तहरीर दी है।

उधर, अस्पताल के डॉक्टर का कहना है कि बच्चा हमारे अस्पताल में सुबह 6 बजे के करीब इलाज के लिए आया था। अस्पताल स्टाफ ने परिजनों को बताया था कि बच्चे की हालत सीरियस है। हमने बच्चे को कहीं दूसरे अस्पताल ले जाने की सलाह परिजनों को दी थी, लेकिन परिजनों की रिक्वेस्ट पर हमने बच्चे को भर्ती किया था और उसका इलाज किया जा रहा था, लेकिन इलाज के दौरान मौत हो गई। बच्चे के परिजनों ने अस्पताल स्टाफ के साथ पहले गाली गलौच की फिर मारा पीटा।

यह भी पढ़ें- 89 फीसदी को लगी कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned